दिल्ली मेट्रो 169 दिन बाद आज से फिर शुरू, यात्रा के दौरान बातचीत से बचने की अपील

वैश्विक महामारी कोरोना के चलते लॉकडाउन के दौरान बंद की गई दिल्ली मेट्रो आज से फिर चल पड़ी है। दिल्ली मेट्रो की सेवा आज सुबह 7 बजे से शुरू हो गई। दिल्ली मेट्रो की सभी स्टेशनों के बाहर भीड़ प्रबंधन के लिए पूरी तैयारी की गई है।

दिल्ली मेट्रो आज दिन बाद फिर से शुरू
कोरोना के चलते लॉकडाउन के दौरान 22 मार्च से बंद की गई दिल्ली मेट्रो को आज यानि 7 सितंबर से 169 दिन बाद फिर से शुरू की गई। दिल्ली मेट्रो की येलो लाइन से पहली मेट्रो 7 बजे हुडा सिटी सेंटर (गुरुग्राम) से समयपुर बादली (दिल्ली) के लिए रवाना की गई। इससे पहले यात्रियों के सुरक्षित सफर की पूरी तैयारी कर ली गई और यात्रियों से बहुत जरूरी होने पर ही यात्रा करने और कोच में बातचीत से बचने की अपील की गई है। दिल्ली मेट्रो फिलहाल 20 फीसदी यात्रियों के साथ संचालित होगी, जबकि एक्वा लाइन पर नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो के 15 स्टेशनों पर केवल एक गेट से ही प्रवेश और निकास होगा।

सितंबर तक मेट्रो की अन्य लाइनें भी खुल जाएंगी
पहले चरण में येलो लाइन (समयपुर बादली से हुडा सिटी सेंटर) व रेपिड मेट्रो का संचालन दो पालियों में होगा, इस लाइन से जुड़े वो स्टेशन जो कंटेनमेंट जोन के दायरे में हैं, बंद रहेंगे। दो दिन बाद 9 से 12 सितंबर तक चरणबद्ध दिल्ली मेट्रो की अन्य लाइनें भी खोल दी जाएंगी। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन यानि डीएमआरसी ने कल यानि 6 सितंबर शाम तक मेट्रो संचालन संबंधी तैयारियों को अंतिम रूप देने के साथ ही यात्रियों से जरूरी होने पर ही मेट्रो में सफर करने और कोच में एक-दूसरे से बेवजह बात नहीं करने की अपील की है, ताकि कोरोना फैलाव की आशंका को टाला जा सके।

20 फीसदी यात्री क्षमता के साथ मेट्रो का संचालन
फिलहाल सुबह 7-11 बजे और शाम 4-8 बजे के बीच ही मेट्रो सेवा उपलब्ध होगी। कोरोना से बचाव के तमाम उपाय करने के साथ ही डीएमआरसी फिलहाल 20 फीसदी यात्री क्षमता के साथ ही मेट्रो संचालन करेगा, यात्रा के लिए स्मार्ट कार्ड जरूरी होगा और कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करना होगा। डीएमआरसी और दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने यात्रियों से अपील की है कि सोशल डिस्टेंसिंग के लिए तय किए गए नियमों का सख्ती से पालन करें।

एयरोसोल ट्रांसमिशन के चलते बातचीत से बचें
49 किलोमीटर लंबी येलो लाइन पर 37 मेट्रो स्टेशन खुले रहेंगे। शुरुआती दो दिनों तक 57 मेट्रो ट्रेनें 462 फेरे लगाएंगी। यात्रियों की सुविधा को देखते हुए स्टेशनों पर मेट्रो ट्रेनें के रुकने का वक्त बढ़ाया गया है। डीएमआरसी ने एयरोसोल ट्रांसमिशन रोकने के लिए यात्रियों से सफर के दौरान कम से कम बातचीत करने की अपील की है, क्योंकि इससे कोरोना संक्रमण का खतरा और बढ़ सकता है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Corona के एक और खतरनाक C.1.2 वेरिएंट की दस्तक, Vaccine को भी दे सकता है चकमा

दुनिया के तमाम देश अभी भी कोरोना से जूझ रहे हैं, वहीं भारत में तीसरी लहर की आशंका भी जताई …