दिल्ली में 21 अक्टूबर से रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान की होगी शुरुआत…जानिए इसके बारे में

दिल्ली की केजरीवाल सरकार रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान को जमीनी स्तर पर लाने जा रही है। 21 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच दिल्ली के व्यस्ततम ट्रैफिक सिग्नल पर वाहन बंद करने के लिए लाल गुलाब देकर गांधीगिरी की जाएगी।

रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान कल से शुरू
दिल्ली की केजरीवाल सरकार 21 अक्टूबर से रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान को शुरू कर रही है, इसके लिए दिल्ली के 100 चौराहों की पहचान की गई है। सुबह 8 से रात 8 बजे के बीच यहां तैनात पर्यावरण मार्शल इस अभियान को आगे बढ़ाएंगे। पूरी दिल्ली के लिए 2500 मार्शल की नियुक्त की गई है। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि इस अभियान के तहत चालान काटने की कार्रवाई नहीं होगी, पहले 3 दिन सिग्नल पर वाहन चालकों को लाल गुलाब का फूल देकर गांधीगिरी के माध्यम से वाहन बंद करने की अपील करेंगे, इस अभियान के केंद्र में ट्रैफिक पुलिस की तरफ से पहचान किए गए 100 व्यस्त चौराहे होंगे, मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार 2500 पर्यावरण मार्शल को नियुक्त की गई है।

यह देश में एक नया रोल मॉडल खड़ा करेगा
गोपाल राय ने कहा कि दो शिफ्ट में चलने वाले अभियान के दौरान हर चौराहे पर 10-10 मार्शल तैनात होंगे, जबकि आईटीओ समेत 10 सबसे व्यस्त चौराहों पर इनकी संख्या दोगुनी होगी। उन्होंने कि स्थानीय एसडीएम, ट्रैफिक पुलिस के एसीपी और परिवहन विभाग के डीसी (प्रवर्तन) मॉर्शलों पर नजर रखेंगे। गोपाल राय ने कहा कि मुहिम पूरी तरह अराजनीतिक होगी, इसके लिए सरकार दिल्ली के सभी सांसद, विधायक, पार्षद, राजनीतिक दल, आरडब्ल्यूए, औद्योगिक व सामाजिक संगठनों और एनजीओं को पत्र लिख कर इस अभियान में शामिल होने की अपील करेंगे। गोपाल ने उम्मीद जताई कि यह देश में एक नया रोल मॉडल खड़ा करेगा। पहली शिफ्ट सुबह 8 बजे से दोपहर के 2 बजे तक होगी, जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर 2 बजे से रात 8 बजे तक होगी।

यह दिल्ली के दो करोड़ लोगों का अभियान
गोपाल राय ने कहा कि पूरी दिल्ली में एंटी डस्ट अभियान चलाया जा रहा है, सरकार ने नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है और आगे भी पूरे दिल्ली के अंदर अगर कोई नियमों का उल्लंघन करता है, तो सरकार इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगी। गोपाल राय ने कहा कि यह जागरूकता अभियान होगा, इसमें प्रवर्तन का कार्य नहीं किया जाएगा, यह पूरी तरह से जागरूकता कार्यक्रम होगा, यह अभियान दिल्ली के लोगों का होगा, जो दिल्ली के प्रदूषण को लेकर चिंतित हैं, दिल्ली के पर्यावरण को ठीक रखना चाहते हैं, उन सब लोगों को अभियान की जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी, यह दिल्ली के दो करोड़ लोगों का अभियान है।

ऑड ईवन जैसा विकल्प अंतिम होगा- गोपाल राय
गोपाल राय ने कहा कि इस अभियान में हम स्कूली बच्चों को भी शामिल करेंगे, दिल्ली में अभी ऑनलाइन क्लास चल रही है, इसलिए हम शिक्षकों के माध्यम से ऑनलाइन क्लास लेने वाले बच्चों को जागरूक करने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि कि बच्चों ने ऑड ईवन अभियान में बड़ी भूमिका अदा की थी। गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली सरकार प्रदूषण कम करने के लिए हर विकल्प अपनाने को तैयार है, ऑड ईवन जैसा विकल्प अंतिम होगा, सारी कोशिश के बावजूद अगर दिल्ली का प्रदूषण कम नहीं होता तो दिल्ली सरकार इस दिशा में काम करने से पीछे नहीं रहेगी।

राघव चड्ढा ने राजेंद्र प्लेस में चलाया अभियान
आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा ने 19 अक्टूबर को राजेंद्र प्लेस मेट्रो स्टेशन के सिग्नल पर रेड लाइट ऑन, गाडी ऑफ अभियान चलाया। अपने समर्थकों के साथ सिग्नल पर पहुंचे राघव चड्ढा ने वाहन चालकों से वाहन बंद रखने की अपील की गई। राघव चड्ढा ने बताया कि जैसे बूंद-बूंद से सागर भरता है वैसे ही रेड लाइट पर गाड़ी बंद करने की ये छोटी सी कोशिश हमें प्रदूषण के खिलाफ इस बड़े युद्ध में जीत दिलाने में मदद करेगी।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Corona के एक और खतरनाक C.1.2 वेरिएंट की दस्तक, Vaccine को भी दे सकता है चकमा

दुनिया के तमाम देश अभी भी कोरोना से जूझ रहे हैं, वहीं भारत में तीसरी लहर की आशंका भी जताई …