DCW ने दिल्ली पुलिस से मांगा जवाब, दिल्ली के पुलिस थानों में क्यों नहीं हैं एक भी महिला SHO ?

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने आज दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी करते हुए सवाल पूछा कि दिल्ली के पुलिस थानों में से किसी एक थाने में भी महिला एसएचओ क्यों नहीं है।

दिल्ली के कुल 178 थानों में एक भी महिला SHO नहीं
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने आज 16 मार्च को बताया उन्हें जानकारी मिली है कि दिल्ली के कुल 178 पुलिस थानों में से किसी एक भी थाने में महिला एसएचओ नहीं है। स्वाति मालीवाल ने कहा कि दिल्ली पुलिस में महिलाओं के लिए 33 फीसदी आरक्षण है, लेकिन फिर भी महिलाओं की भागीदारी पुलिस बल में बहुत कम है। उन्होंने कहा कि आज के दौर में महिला और पुरुष बराबरी के लिए काम कर रहे है ऐसे में दिल्ली पुलिस में एक भी महिला एसएचओ न होना दुर्भाग्यपूर्ण है।

डीसीडब्ल्यू ने दिल्ली पुलिस को जारी किया नोटिस
दिल्ली महिला आयोग ने योग्य महिला अधिकारियों की जानकारी लेने के लिए दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर पूछा है कि विभाग में कितने पुरुष और महिला निरीक्षक हैं और दोनों के लिए कितने पद निर्धारित किए गए हैं, साथ ही आयोग ने दिल्ली पुलिस ये जानकारी भी मांगी है कि दिल्ली पुलिस ने महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए क्या-क्या कदम उठाए हैं। आयोग ने इस मामले से दिल्ली पुलिस को जवाब देने के लिए 19 मार्च, 2021 तक का समय दिया है।

कमला नगर थाने में महिला SHO बेहद जरूरी- स्वाति
स्वाति मालीवाल ने कहा कि दिल्ली पुलिस में महिलाओं कि भागीदारी बढ़ना बेहद जरूरी है, इसके साथ ही ये भी सुनिश्चित करना जरूरी है कि पदोन्नति में भी किसी प्रकार का कोई भेदभाव न हो। उन्होंने कहा कि दिल्ली के कमला नगर थाने जैसे संवेदनशील इलाके जिसके अंतर्गत जीबी रोड आता है, वहां महिला एसएचओ होना बेहद जरूरी है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …