पश्चिम बंगाल में बिहार के थानेदार की बेरहमी से हत्या, छापेमारी करने गए थे थानेदार

बिहार के किशनगंज से आज एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आ रही है। पश्चिम बंगाल सीमा पर छापेमारी करने गए किशनगंज टाउन थानाध्यक्ष की बेरहमी से पीट-पीट कर हत्या कर दी गई है।

अश्विनी कुमार की पीट-पीट कर हत्या
पश्चिम बंगाल में कल यानि 9 अप्रैल की देर रात बिहार के एक थानेदार की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि बिहार के किशनगंज टाउन थाना प्रभारी अश्विनी कुमार अपनी टीम के साथ किशनगंज से सटे पश्चिम बंगाल के उत्त री दिनाजपुर जिले के पांजीपाड़ा थाने के पनतापारा गांव में कल देर रात एक वॉन्टेड अपराधी को पकड़ने गए थे, लेकिन तभी वहां कुछ लोगों ने उन पर हमला बोल दिया और पीट-पीट कर मार डाला। आरोप है कि पश्चिम बंगाल की पुलिस ने सूचना के बावजूद बिहार पुलिस की टीम को कोई सहयोग नहीं किया। इस मामले में पुलिस ने पंजीपाड़ा से एक शख्स को गिरफ्तार किया है।

पनतापारा गांव के लोगों ने मारा थाना प्रभारी को
जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार-शनिवार रात 2 बजे के आसपास की ये घटना है। दरअसल, किशनगंज की सीमा पश्चिम बंगाल से लगती है, पश्चिम बंगाल के पनतापारा गांव में एक वॉन्टेड अपराधी की तलाश में थाना प्रभारी अश्विनी कुमार निकले थे। बताया जा रहा है कि रात में ही अश्विनी कुमार पश्चिम बंगाल के स्थानीय थाने भी पहुंचे, तो वहां के थाना प्रभारी ने बोल दिया कि ओडीओ उनके साथ जाएगा, ओडीओ ने बोला कि आप जाइए, हम आते हैं, ऐसे में अश्विनी कुमार अपनी टीम के साथ गांव में पहुंच गए, छापेमारी करने गई टीम पर अचानक गांव वालों ने हमला बोल दिया, इस दौरान बाकी पुलिसकर्मी तो बच निकले, लेकिन अंधेरे में अश्विनी कुमार गांव वालों के हाथ लग गए, इसके बाद गांव वालों ने लाठी, डंडे और पत्थर से पीट-पीट कर उनकी हत्या कर दी।

दोषियों को गिरफ्तार करेंगे- आईजी पूर्णिया
इस मामले पर किशनगंज एसपी कुमार आशीष और पूर्णिया आईजी सुरेश चौधरी मौके पर कैंप कर रहे हैं। पूर्णिया आईजी सुरेश चौधरी ने बताया है कि थाना प्रभारी अश्विनी कुमार एक बाइक चोरी के मामले में छापेमारी करने पश्चिम बंगाल पहुंचे थे। आईजी सुरेश चौधरी ने कहा कि इस मामले में हम छापेमारी कर दोषियों को गिरफ्तार करेंगे। फिलहाल अश्विनी कुमार का शव पश्चिम बंगाल के इस्लामपुर अस्पताल में है, जहां अधिकारियों की मौजूदगी में शव का पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है। इस पूरे मामले के सामने आने के बाद बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने पीड़ित परिवार को केंद्र सरकार और राज्य सरकार की तरफ से 1-1 करोड़ रुपए का मुआवजा देने की मांग की है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …