पीएम मोदी ने धोनी को लिखी चिट्ठी, कहा- आपमें नए भारत की आत्मा झलकती है

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान व धाकड़ विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त, 2020 को अंतरराष्टीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया था। इसके बाद तमाम लोगों ने धोनी को जीवन की नई पारी शुरू करने के लिए शुभकामनाएं दीं। इसी कड़ी में अब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम भी शामिल हो गया है, जिन्होंने चिट्ठी लिखकर महेंद्र सिंह धोनी के शानदार कैरियर की सराहना की है।

पीएम मोदी ने धोनी को शुभकामनाएं दीं

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान व धाकड़ विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त, 2020 को अंतरराष्टीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया था। इसके बाद तमाम लोगों ने धोनी को जीवन की नई पारी शुरू करने के लिए शुभकामनाएं दीं। इसी कड़ी में अब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम भी शामिल हो गया है, जिन्होंने चिट्ठी लिखकर महेंद्र सिंह धोनी के शानदार कैरियर की सराहना की है। प्रधानमंत्री मोदी ने चिट्ठी में लिखा कि आपमें नए भारत यानि न्यू इंडिया की आत्मा झलकती है, जहां युवाओं की नियति उनका परिवार का नाम नहीं तय करता है, बल्कि वे अपना खुद का मुकाम और नाम हासिल करते हैं।

धोनी ने मोदी को धन्यवाद दिया

महेंद्र सिंह धोनी ने ट्वीट करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शुभकामनाओं के लिए धन्यवाद दिया है। धोनी ने लिखा कि एक कलाकार, सैनिक और खिलाड़ी को प्रशंसा की चाहत होती है, वे चाहते हैं कि उनकी मेहनत और बलिदान को सभी पहचानें, प्रशंसा और शुभकामनाओं के लिए शुक्रिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आपकी ओर से मिली प्रशंसा और शुभकामनाओं के लिए। ध्यान रहे कि अपने रिटायरमेंट का ऐलान इंस्टाग्राम पर करने वाले धोनी ने अपना आखिरी ट्वीट फरवरी, 2020 में किया था, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया अदा करने के लिए उन्होंने आज ट्विटर का इस्तेमाल किया।

आपके रिटायरमेंट से 130 करोड़ भारतीय निराश- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने धोनी के नाम लिखी इस चिट्ठी में कहा कि 15 अगस्त को आपने अपने सरल अंदाज में एक छोटा वीडियो साझा किया जो पूरे देश में एक लंबी और जुनूनी बहस के लिए काफी था। मोदी ने लिखा कि आपके रिटायरमेंट से 130 करोड़ भारतीय निराश हैं, लेकिन साथ ही जो आपने पिछले डेढ़ दशक में भारत के लिए किया उसके लिए देशवासी आपके आभारी भी हैं। आपके कैरियर को देखने का एक तरीका आंकड़ों के चश्मे से भी देखने का है, आप भारतीय क्रिकेट के सबसे कामयाब कप्तानों में शामिल हैं।

2011 वर्ल्ड कप फाइनल पीढ़ियों तक याद रहेगा- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत को दुनिया में चोटी की टीम बनाने में आपकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है, क्रिकेट के इतिहास में आपका नाम दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में, सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में और नि:संदेह सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपरों में शामिल किया जाएगा। उन्होंने इस पत्र में आगे लिखा कि मुश्किल हालात में आप पर निर्भरता और मैच फिनिश करने का आपका स्टाइल, खास तौर पर वर्ष 2011 वर्ल्ड कप फाइनल, पीढ़ियों तक लोगों को याद रहेगा, लेकिन महेंद्र सिंह धोनी का नाम सिर्फ उनके कैरियर के आंकड़ों के लिए याद नहीं किया जाएगा और न ही किसी इकलौते मैच को जीतने में उनकी भूमिका के लिए जाना जाएगा।

आपने देश को गौरवान्वित किया- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आपको सिर्फ एक खिलाड़ी के रूप में देखना अन्याय होगा, आपको देखने का सही तरीका एक फिनॉमिना यानि अपने आप में एक घटना है। उन्होंने कहा कि एक छोटे शहर से उठकर आप अंतरराष्ट्रीय पटल पर छा गए, आपने अपने लिए नाम बनाया और सबसे महत्वपूर्ण देश को गौरवान्वित किया। आपकी तरक्की और उसके बाद के जीवन ने उन करोड़ों नौजवानों को प्रेरणा दी, जो महंगे स्कूलों या कॉलेजों में नहीं गए, न ही वे किसी प्रतिष्ठित परिवार से आते हैं, लेकिन उनके पास स्वयं को सर्वोच्च स्तर पर स्थापित करने की क्षमता है।

आपके चलते नई पीढ़ी रिस्क लेने से नहीं डरती- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम कहां से आए हैं यह बहुत ज्यादा मायने नहीं रखता, जब तक हमें यह मालूम हो कि हम किस दिशा में जा रहे हैं, आपने यही भावना प्रदर्शित की और कई युवाओं को इससे प्रेरित किया, मैदान पर रहकर आपने नई पीढ़ी को तमाम उदाहरण दिए हैं, ये पीढ़ी अब रिस्क लेने से नहीं डरती है। कितनी भी कठिन परिस्थिति हो एकदूसरे पर भरोसा करना चाहिए, आपने कई बार युवा खिलाड़ियों पर भरोसा जताकर उस समय रिस्क लिया है, जब ज्यादा दबाव था, टी-20 वर्ल्ड कप, 2007 का फाइनल इस बात का एक शानदार उदाहरण है।

मैं साक्षी-जीवा को भी शुभकामनाएं देता हूं- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने ने धोनी के सेना के प्रति प्यार का भी जिक्र किया तथा कहा कि मैं यहां आपके भारतीय सशस्त्र बलों के प्रति लगाव को भी मेंशन करना चाहता हूं, आपको जब सेना में जगह मिली तो आप बहुत खुश थे, आपका उनके प्रति कल्याण का भाव भी अतुलनीय है। उन्होंने कहा कि मैं आशा करता हूं कि साक्षी और जीवा अब आपके साथ ज्यादा समय बिता सकेंगी, मैं उनको भी शुभकामनाएं देना चाहता हूं, क्योंकि उनके बलिदान और समर्थन के बिना आपके लिए इतना सब करना संभव नहीं था, आपने ये भी सिखाया है कि आप एक टूर्नामेंट जीतने से ज्यादा अपने बच्चे के साथ खेलना पसंद करेंगे।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Corona के एक और खतरनाक C.1.2 वेरिएंट की दस्तक, Vaccine को भी दे सकता है चकमा

दुनिया के तमाम देश अभी भी कोरोना से जूझ रहे हैं, वहीं भारत में तीसरी लहर की आशंका भी जताई …