कांग्रेस नेता अहमद पटेल का कोरोना से निधन, मेदांता अस्पताल में थे भर्ती

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल का आज 25 नवंबर को निधन हो गया है। 71 वर्षीय अहमद पटेल 15 नवंबर से आईसीयू में भर्ती थे।

अहमद पटेल ने मेदांता अस्पताल में ली अंतिम सांस
अहमद पटेल एक महीना पहले कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे, इसके बाद उनका इलाज गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा था, जहां उन्होंने आज अंतिम सांस ली। अहमद पटेल के बेटे फैजल पटेल ने ट्वीट करके कहा कि ‘पिता अहमद पटेल का निधन आज सुबह 3 बजकर 30 मिनट पर हुआ है, एक महीने पहले वह कोरोना से संक्रमित हुए थे और शरीर के कई अंगों के काम बंद करने की वजह से उनकी हालत बिगड़ रही थी, खुदा उन्हें जन्नत दे, आप सभी से अनुरोध है कि कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए भीड़ इकट्ठा न करें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।’

खुद दी थी कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी
ध्यान रहे कि 1 अक्टूबर को अहमद पटेल ने एक ट्वीट करके खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी थी, तब उन्होंने कहा था कि ‘मैं कोरोना पॉजिटिव हुआ हूं, मैं निवेदन करता हूं कि जो मेरे नजदीकी संपर्क में आएं है वे खुद को आइसोलेट कर लें।’ हालांकि, 18 नवंबर को अहमद पटेल की पुत्री मुमताज ने कहा था कि पिछले कुछ दिनों से उनके पिता की सेहत में थोड़ा सुधार हुआ है। मुमताज ने एक ऑडियो संदेश के माध्यम से यह जानकारी दी थी।

अहमद पटेल 8 बार सांसद बने थे
21 अगस्त, 1949 को गुजरात के भरूच जिले के अंकलेश्वर तहसील के पिरामण गांव में जन्मे अहमद पटेल 3 बार लोकसभा के सदस्य रहे और 5 बार राज्यसभा के सांसद रहे थे। अहमद पटेल पहली बार 1977 में 26 साल की उम्र में भरूच से लोकसभा का चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे। हमेशा पर्दे के पीछे से राजनीति करने वाले अहमद पटेल इंदिरा गांधी के समय से ही गांधी परिवार के विश्वस्त नेताओं में गिने जाते थे। अहमद पटेल 1993 से अब तक राज्यसभा सांसद थे। अहमद पटेल को अगस्त, 2018 में कांग्रेस पार्टी का कोषाध्याक्ष नियुक्त किया गया था।

अहमद जी के निधन से दुखी हूं- मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमद पटेल के निधन पर ट्वीट किया और उनके बेटे फैजल पटेल से फोन पर बात की। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विटर पर लिखा ‘अहमद पटेल जी के निधन से दुखी हूं, उन्होंने सार्वजनिक जीवन में कई साल समाज की सेवा में बिताए, अपने तेज दिमाग के लिए जाने जाने वाले अहमद पटेल को कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने में उनकी भूमिका हमेशा याद की जाएगी, उनके बेटे फैजल से बात की है और संवेदना व्यक्त की, अहमद भाई की आत्मा को शांति मिले।’

सोनिया व प्रियंका ने शोक जताया
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अहमद पटेल के निधन पर शोक जताया है और उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की हैं। सोनिया गांधी फिलहाल गोवा में स्वास्थ्य लाभ ले रही हैं, कहा जा रहा है कि सोनिया गांधी खराब तबीयत की वजह से अहमद पटेल के अंतिम दर्शन नहीं कर पाएंगी। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया कि ‘अहमद जी न केवल एक बुद्धिमान और अनुभवी सहकर्मी थे, जिनसे मैंने लगातार सलाह ली, वे एक ऐसे दोस्त थे, जो हम सभी के साथ खड़े रहे, दृढ़, निष्ठावान और अंत तक भरोसेमंद रहे, उनका निधन एक विशाल शून्य छोड़ देता है, उनकी आत्मा को शांति मिले।’

अहमद पटेल कांग्रेस के एक स्तंभ थे- राहुल
अहमद पटेल को निधन पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि ‘यह एक दुखद दिन है, अहमद पटेल कांग्रेस पार्टी के एक स्तंभ थे, वह अपने सबसे कठिन समय में पार्टी के साथ खड़े रहे, वह एक जबरदस्त संपत्ति थे, हम उन्हें हमेशा याद करेंगे, फैजल, मुमताज और परिवार को मेरा प्यार और संवेदना।’ अहमद पटेल के निधन पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया कि ‘अहमद पटेल नहीं रहे, एक अभिन्न मित्र विश्वसनीय साथी चला गया, हम दोनों 1977 से साथ रहे, वे लोकसभा में पहुंचे, मैं विधानसभा में, हम सभी कांग्रेसियों के लिए वे हर राजनीतिक मर्ज की दवा थे, मृदुभाषी, व्यवहार कुशल और सदैव मुस्कुराते रहना उनकी पहचान थी।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …