हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022: हिमाचल में बजा चुनावी बिगुल, चुनाव की तारीखों का हुआ ऐलान

चुनाव आयोग ने आज पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 की तारीखों की घोषणा कर दी है। हिमाचल प्रदेश में एक ही चरण में 12 नवंबर 2022 को मतदान होगा, जबकि 8 दिसंबर 2022 को मतगणना की जाएगी।

12 नवंबर को वोटिंग व 8 दिसंबर को काउंटिंग
हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 का ऐलान हो गया है। मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) राजीव कुमार ने आज 14 अक्टूबर 2022 को हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा करते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश में एक चरण में चुनाव होगा, 12 नवंबर 2022 को मतदान होगा और 8 दिसंबर 2022 को मतगणना होगी, चुनाव के लिए अधिसूचना 17 अक्टूबर 2022 को जारी होगी, नामांकन करने की आखिरी तारीख 25 अक्टूबर 2022 है और 29 अक्टूबर 2022 तक नाम वापस ले सकते हैं। हिमाचल विधानसभा का कार्यकाल 8 जनवरी 2023 को समाप्त हो रहा है।

चुनाव फेयर करवाने का प्रयास- राजीव कुमार
मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग सही तरीके से चुनाव करवाने के लिए प्रतिबद्ध है, इलेक्शन फेयर और सही तरीके से करवाने का प्रयास करेंगे, कोविड की स्थिति अब बड़ी चिंता नहीं, लेकिन एहतियाती कदम जारी रखे जाएंगे, प्रत्येक मतदान केंद्र पर रैम्प, पेयजल एवं छायांकित क्षेत्र व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

हिमाचल प्रदेश में 55.07 लाख वोटर
मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि कुछ मतदान केंद्रों का प्रबंधन पूरी तरह से महिला कर्मचारियों द्वारा किया जाएगा, कुछ मतदान केंद्रों का प्रबंधन पूरी तरह से पीडब्ल्यूडी कर्मचारियों द्वारा किया जाना है। उन्होंने कहा कि हिमाचल विधानसभा की 68 सीटों में से 17 सीटें एससी वर्ग और 3 सीटें एसटी वर्ग के लिए आरक्षित हैं, हिमाचल में 55.07 लाख वोटर हैं, इनमें 27 लाख 80 हजार पुरुष और 27 लाख 27 हजार महिलाएं हैं।

नामांकन के दिन तक नए वोटर जुड़ पाएंगे
मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि वोटर्स हमारी प्राथमिकता है, यही वजह है कि जिन लोगों को पास वोटर आईडी कार्ड नहीं है वो नामांकन के दिन तक इसे हासिल कर सकते हैं, नामांकन के दिन तक वोटर जुड़ सकेंगे। उन्होंने कहा कि 80 साल के ज्यादा उम्र के लोग, दिव्यांग या कोरोना संक्रमित अगर बूथ पर नहीं आ पाते हैं तो उनके घर जाकर वोट ली जाएगी, 80 साल के ज्यादा उम्र के 1.82 लाख मतदाता हैं, आयोग के कर्मचारी 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं के लिए मतदान के लिए घरों में जाएंगे, प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाएगी, इसके अलावा राज्य में 100 साल से ज्यादा उम्र के 1184 मतदाता हैं।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हेमंत सोरेन ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, तीसरी बार बने झारखंड के मुख्यमंत्री

झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने एक बार फिर आज गुरुवार को (4 जुलाई…