नीरज चोपड़ा ने डायमंड लीग में दूसरा गोल्ड जीता, पहले ही प्रयास में 88.67 मीटर भाला फेंका, लीग में डबल गोल्ड जीतने वाले इकलौते भारतीय बने

देश को ओलिंपिक गेम्स, वर्ल्ड चैंपियनशिप और डायमंड लीग जैसे बड़े कॉम्पिटिशन में मेडल दिलाने वाले जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने एक और कारनामा किया है। नीरज चोपड़ा डायमंड लीग में लगातार दूसरा गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। 25 साल के नीरज चोपड़ा ने दोहा में चल रही प्रतियोगिता के मेंस जेवलिन थ्रो इवेंट के फाइनल में पहले ही प्रयास में 88.67 मीटर भाला फेंका, यह नीरज का गोल्ड विनिंग परफॉर्मेंस साबित हुआ। नीरज ने साल 2023 का पहला ही मेडल जीता है। पिछले साल नीरज ने ज्यूरिख में डायमंड लीग में पहला गोल्ड जीता था, 2022 में नीरज ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी भारत को सिल्वर मेडल दिलाया था।

नीरज-वाडलेच के बीच कांटे की टक्कर
जेवलिन थ्रो फाइनल में नीरज चोपड़ा और सिल्वर मेडल विनर चेक रिपब्लिक के जैकब वाडलेच के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली। मुकाबले की रोचकता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि दोनों की जीत हार का अंतर महज 0.04 मीटर रहा। जेवलिन थ्रो फाइनल में हर एथलीट को 6 थ्रो यानी 6 अटेम्प्ट मिलते हैं, इनमें से बेस्ट थ्रो को गिना जाता है।
नीरज चोपड़ा का पहला ही अटेम्प्ट बेस्ट रहा। उन्होंने 88.67 मीटर का थ्रो फेंका जो कि ओवर ऑल इवेंट का बेस्ट थ्रो था।
– नीरज चोपड़ा ने दूसरे थ्रो में 86.04 मीटर की दूरी के साथ अपनी लय बनाए रखी, जबकि जैकब वाडलेच ने अपने दूसरे अटेम्प्ट में सबसे नजदीकी 88.63 मीटर का थ्रो फेंका।
थ्रो के तीसरे राउंड में ग्रेनेडिया के एंडरसन पीटर्स ने अंडर-85 का थ्रो फेंका। नीरज चोपड़ा और जैकब वाडलेच ने अपना अच्छा फॉर्म जारी रखा और क्रमशः 85.47 मीटर और 86.64 मीटर के थ्रो किए।
चौथे राउंड में शीर्ष तीन ने लीडरबोर्ड को बरकरार रखते हुए एक-एक फाउल फेंका।
जैकब वाडलेच ने पांचवें राउंड में 88 मीटर थ्रो के साथ नीरज चोपड़ा के थ्रो के करीब पहुंचने की कोशिश की, लेकिन वह केवल 88.47 मीटर थ्रो कर सके। वहीं नीरज ने पांचवें राउंड में 84.37 मीटर थ्रो करने के बावजूद अपनी बढ़त बनाए रखी।
फाइनल राउंड में नीरज ने 86.52 मीटर का एक शानदार थ्रो फेंका, जबकि जैकब और पीटर्स दोनों 85 मीटर के निशान को पार करने में नाकाम रहे।

90 का आंकड़ा पार नहीं कर सके नीरज
इस चैंपियनशिप से पहले उम्मीद की जा रही थी कि नीरज चोपड़ा दोहा में 90 मीटर से ज्यादा भाला फेंकने का रिकॉर्ड बना लेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। दोहा में चल रही हवा ने उन्हें ऐसा करने से रोका। नीरज चोपड़ा ने भले ही 90+ मीटर का मार्क हासिल न किया हो, लेकिन देश को गोल्ड जरूर दिला दिया।

2022 में फेंका था 88.44 मीटर का थ्रो
नीरज चोपड़ा ने 2022 की डायमंड लीग में भी गोल्ड जीता था, तब चोपड़ा ने 88.44 मीटर का थ्रो फेंका था। इससे पहले नीरज ने साल 2017 और 2018 में भी फाइनल के लिए क्वॉलिफाई किया था। वह 2017 में सातवें और 2018 में चौथे स्थान पर थे।

नीरज चोपड़ा का 7वां इंटरनेशनल गोल्ड
नीरज चोपड़ा ने अपने सीनियर कैरियर का सातवां इंटरनेशनल गोल्ड जीता, इससे पहले चोपड़ा एशियन गेम्स, साउथ एशियन गेम्स, ओलंपिक्स, वर्ल्ड चैंपियनशिप और डायमंड लीग में गोल्ड जीत चुके हैं।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

PM मोदी बिहार से लोकसभा चुनाव अभियान का आगाज करेंगे, पश्चिम चंपारण के बेतिया में 13 जनवरी को पहली रैली करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2024 लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत बिहार से कर सकते हैं। न्यूज ए…