ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित कोविड-19 के टीके का उत्पादन एसआईआई, पुणे में 2-3 हफ्ते में शुरू हो जाएगा !

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए 25 मार्च से 3 मई तक 40 दिनों के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन दौरान भारत तथा पूरी दुनिया के लिए खुशखबरी है, टीके बनाने वाली कंपनी सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई), पुणे ने आज कहा कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित कोविड-19 के टीके का उत्पादन दो से तीन हफ्ते में शुरू हो जाएगा।

कोविड-19 के टीके का उत्पादन 2-3 हफ्ते में शुरू !

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए 25 मार्च से 3 मई तक 40 दिनों के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन दौरान भारत तथा पूरी दुनिया के लिए खुशखबरी है, टीके बनाने वाली कंपनी सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे ने आज कहा कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित कोविड-19 के टीके का उत्पादन दो से तीन हफ्ते में शुरू हो जाएगा, यदि इसका मानव पर परीक्षण सफल रहा तो अक्टूबर, 2020 तक यह टीका बाजार में आ जाने की उम्मीद है। ध्यान रहे कि सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया उन सात वैश्विक कंपनियों में शामिल है, जिसके साथ ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने कोविड-19 के टीके के उत्पादन के लिए साझेदारी की है।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में साझेदारी

सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला ने आज कहा कि हमारी टीम ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के डॉ हिल के साथ मिल कर टीके पर काम कर रही है, हमें उम्मीद है कि अगले दो से तीन हफ्ते में कोविड-19 के टीके का उत्पादन शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि पहले 6 महीने तक टीके का उत्पादन करने की क्षमता प्रति महीने 50 लाख खुराक की रहेगी, उसके बाद हमें उत्पादन बढ़ा कर प्रति महीने 1 को करोड़ खुराक कर लेने की है। ध्यान रहे कि पुणे स्थित सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया पहले भी ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मलेरिया के टीके पर काम कर चुकी है।

सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोविड-19 के टीके का पेटेंट नहीं कराएगी

अदार पूनावाला ने कहा कि हमें कोविड-19 के टीके के सितम्बर-अक्टूबर, 2020 तक बाजार में आ जाने की पूरी उम्मीद है, बशर्ते कि टीके का परीक्षण आवश्यक सुरक्षा तथा पर्याप्त प्रभाव के साथ सफल हो जाए। उन्होंने कहा कि हम अगले दो से तीन हफ्ते में कोविड-19 के टीके का परीक्षण भारत में शुरू कर देंगे। उन्होंने कहा कि सेरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोविड-19 के टीके का पेटेंट नहीं कराएगी तथा इसे न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया की कंपनियों के लिए उत्पादन व बिक्री करने के लिए उपलब्ध कराएगी।

भारत में कोरोना पॉजिटिव केस 27 हजार के पार, मरने वालों की संख्या 856 पहुंची

गौरतलब है कि अब तक भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की संख्या करीब 27,200 से ज्यादा हो चुकी है, कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 6214 हो गई है, जबकि कोरोना से मरने वालों की संख्या 856 हो चुकी है। अब तक पूरे विश्व में कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 29 लाख 41 हजार को पार कर चुकी है तथा इससे मरने वालों की संख्या 2 लाख, 3 हजार को पार कर चुकी है। विश्व में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या अमेरिका में करीब 9 लाख 61 हजार पहुंच चुकी है, जबकि इससे मरने वालों की संख्या यहां करीब 54,200 हो चुकी  है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

टैक्सपेयर्स के लिए बड़ी राहत, ‘विवाद से विश्वास’ स्कीम के तहत पेमेंट की डेडलाइन 30 सितंबर तक बढ़ाई गई

केंद्र सरकार ने विवाद से विश्वास स्कीम के तहत पेमेंट की डेडलाइन एक महीने बढ़ा दी है, जबकि …