दिल्ली का शाहीन बाग एक बार फिर सुर्खियों में… जानिए कैसे ?

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए 25 मार्च से 3 मई के बीच देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान दिल्ली का शाहीन बाग एक बार फिर सुर्खियों में है। शाहीन बाग में दिल्ली का सबसे सबसे ज्यादा 5 कोरोना हॉटस्पॉट इलाका बन गया है, यह इलाका दिल्ली सरकार तथा दिल्ली पुलिस के लिए एक बार फिर बड़ा सिर दर्द बन गया है।

दिल्ली में सबसे ज्यादा हॉटस्पॉट इलाके शाहीन बाग में

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए 25 मार्च से 3 मई के बीच देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान दिल्ली का शाहीन बाग एक बार फिर सुर्खियों में है, क्योंकि यहां दिल्ली का सबसे सबसे ज्यादा 5 कोरोना हॉटस्पॉट इलाका बन गया है, यह इलाका दिल्ली सरकार तथा दिल्ली पुलिस के लिए एक बार फिर बड़ा सिर दर्द बन गया है। ध्यान रहे कि सीएए यानि नागरिकता संशोधन अधिनियम तथा एनआरसी यानि राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में 100 दिनों से ज्यादा चले धरना-प्रदर्शन के कारण यह सुर्खियों में था, तो अब सीएए यानि नागरिकता संशोधन अधिनियम तथा एनआरसी में शामिल लोगों के कारण यह क्षेत्र दिल्ली में सबसे अधिक 5 कोरोना हॉटस्पॉट वाला इलाका बन चुका है।

शाहीन बाग  में पांच हॉटस्पॉट इलाके घोषित

सबसे ज्यादा हॉटस्पॉट इलाका होते हुए भी शाहीन बाग में देशव्यापी लॉकडाउन की धज्जियां उड़ती आसानी से देख सकते हैं, ऐसे में इस इलाके में कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए प्रशासन काफी चिंतित है तथा दिल्ली पुलिस के लिए भी सिर दर्द बना हुआ है। शाहीन बाग स्थित जाकिर नगर गली नंबर- 18 से 22 तक, ई ब्लॉक, एच ब्लॉक, गली नंबर-6-ए ब्लॉक अबुल फजल एंक्लेव तथा शाहीन बाग के डी ब्लॉक में मकान नंबर- 152 से 162 तक कुल 5 हॉटस्पॉट हैं।

शाहीन बाग में सीएए तथा एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन हुई थी

देश में कोरोना महामारी मामले सामने आने के बाद शुरू से ही सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने तथा एक जगह पर काफी संख्या में लोगों के इकट्ठे न होने की बात कही गई थी, इसके बावजूद शाहीन बाग में सीएए तथा एनआरसी के विरोध में काफी संख्या में महिलाएं जुटती रहीं तथा सरकार की अपीलों को दरकिनार करती रहीं, जब देशव्यापी लॉकडाउन लागू हुआ उसके बावजूद यहां महिलाएं धरना पर इकट्ठे होती रहीं, आखिर में दिल्ली पुलिस ने यहां से सामान हटवा कर धरना तो समाप्त करावा दिया, लेकिन इस बीच धरने के बीच से कोरोना वायरस का संक्रमण फैल चुका था, अब यह धीरे-धीरे सामने आ रहा है।

दिल्ली के दक्षिणी-पूर्वी जिला में 21 इलाके हॉटस्पॉट घोषित

शाहीन बाग तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले लोग जो तबलीगी जमात के मरकज से लौट थे, वो सब घरों में छिप गए तथा मरकज में शामिल जमातियों से कोरोना फैलने की जानकारी सामने आ जाने के बावजूद इन लोगों ने जांच नहीं कराई, जिसका नतीजा अब सामने आ रहा है। दिल्ली के दक्षिणी-पूर्वी जिला शाहीन बाग के धरने तथा मरकज में शामिल लोगों के कारण ही कोरोना हॉटस्पाट के मामले में दिल्ली में सबसे आगे है। दिल्ली के कुल 100 हॉटस्पॉट इलाके में दक्षिणी-पूर्वी जिला में 21 इलाके हॉटस्पॉट घोषित कर सील किए जा चुके हैं, इनमें से शाहीन बाग का इलाका तथा निजामुद्दीन का इलाका भी शामिल है।

दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या 3515 पहुंची

दिल्ली में आज 76 कोरोना पॉजिटिव केस बढ़े हैं, अब दिल्ली में कुल 3515 कोरोना पॉजिटिव केस हो गए हैं, कोरोना बीमारी से ठीक होने वालों की संख्या यहां 1092 हो गई है, जबकि इससे मरने वालों की संख्या 59 हो चुकी है। दिल्ली के सभी 11 जिले कोरोना हॉटस्पॉट इलाके घोषित किए जा चुके हैं। दिल्ली में अब तक 100 कोरोना हॉटस्पॉट इलाके घोषित हो चुके हैं।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …