केजरीवाल सरकार के जॉब पोर्टल पर नौकरी की भरमार, आवेदन कम…जानिए

दिल्ली की केजरीवाल सरकार के जॉब पोर्टल jobs.delhi.gov.in पर 8.5 लाख से ज्यादा वैकेंसी पोस्ट की जा चुकी हैं। दिल्ली सरकार के इस जॉब पोर्टल पर खास बात यह है कि जॉब्स के लिए आवेदन करने वालों से ज्यादा वैकेंसी पोस्ट की जा चुकी हैं।

जॉब पोर्टल पर आवेदन से ज्यादा वैकेंसी

दिल्ली की केजरीवाल सरकार के जॉब पोर्टल jobs.delhi.gov.in पर 8.5 लाख से ज्यादा वैकेंसी पोस्ट की जा चुकी हैं। दिल्ली सरकार के इस जॉब पोर्टल पर खास बात यह है कि जॉब्स के लिए आवेदन करने वालों से ज्यादा वैकेंसी पोस्ट की जा चुकी हैं। रोजाना आंकड़ों में तेजी से बदलाव हो रहा है, अभी तक 868825 वैकेंसी पोस्ट की गई है और जॉब्स के लिए 760058 रजिस्ट्रेशन हुए हैं। हालांकि, दिल्ली सरकार की ओर से एक स्पेशल टॉस्क फोर्स बनाई गई है, जो इम्प्लायर द्वारा पोस्ट की जाने वाले वैकेंसी को लेकर वेरिफिकेशन करती है, ताकि जॉब पोर्टल पर कोई फर्जी वैकेंसी पोस्ट न हो।

देश में यह पहला स्पेशल प्रयोग- राय

दिल्ली के श्रम मंत्री गोपाल राय ने बताया कि दिल्ली सरकार अगले हफ्ते जॉब पोर्टल के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक जानकारी पहुंचाने के लिए एक पोस्टर अभियान भी शुरू कर रही है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में दिल्ली सरकार ने यह नया प्रयोग शुरू किया है, जिसके काफी अच्छे नतीजे आए हैं, अभी तक 5310 इम्पलायर ने वैकेंसी पोस्ट की हैं। गोपाल राय ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान खराब हुई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए दिल्ली सरकार ने देश में पहला स्पेशल प्रयोग किया है, उसका बड़े पैमाने पर रिस्पॉन्स आ रहा है।

जॉब पोर्टल पर 8.5 लाख से ज्यादा वैकेंसी

गोपाल राय ने कहा कि जॉब पोर्टल पर 8.5 लाख से ज्यादा वैकेंसी पोस्ट की जा चुकी हैं, हम दिल्ली वालों से अपील करना चाहते हैं कि जिनको रोजगार चाहिए, वे अधिक से अधिक रजिस्टर करें, युवाओं से अपील है कि वे दूसरों को जॉब पोर्टल पर रजिस्टर्ड करने में मदद करें। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही दिल्ली सरकार जॉब पोर्टल के बारे में गली-गली तक जानकारी पहुंचाने के लिए अगले हफ्ते से पोस्टर अभियान शुरू कर रही है, खुशी है कि यह प्रयोग सफल रहा है, देश के अन्य राज्यों में भी सरकारें प्रयोग करें तो लोगों को रोजगार मिल सकता है। जॉब पोर्टल पर किसी भी तरह की फर्जी वैकेंसी पोस्ट नहीं होने दी जाएगी, दिल्ली सरकार ने स्पेशल टास्क फोर्स बनाई है, जो कंपनी वैकेंसी पोस्ट करती है, उसको वेरिफाई किया जाता है।

इस पोर्टल के लिए कोई फीस नहीं

गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली सरकार इस पोर्टल के लिए किसी भी तरह की कोई फीस नहीं लेती है, कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन के चलते बेरोजगार हुए युवाओं और कर्मचारियों की कमी झेल रहे दुकानदारों व कारोबारियों को एक-दूसरे से मिलाने के लिए दिल्ली सरकार ने यह प्रयोग किया है। उन्होंने कहा कि यह वेब पोर्टल एक तरह से रोजगार बाजार है, जहां नौकरी लेने और नौकरी देने वालों का मिलाप होगा और लोगों को नौकरियां मिलेंगी।

ज्यादा वैकेंसी ऑफिस और डेटा एंट्री की

ध्यान रहे कि जॉब पोर्टल पर सबसे ज्यादा वैकेंसी ऑफिस और डेटा एंट्री को लेकर पोस्ट की गई है, इस कैटिगरी में 32 हजार से ज्यादा वैकेंसी पोस्ट की गई है, इसके बाद टीचिंग की 12877, अकाउंटेंट की 12863, कस्टमर सपोर्ट और टेली कॉलर की 12760 वैकेंसी पोस्ट की गई है। इसके अलावा सेल्स, मार्केटिंग, बिजनेस डिवेलपमेंट, वेयरहाउस, एचआर, एडमिन, सिक्युरिटी गार्ड, आईटी, हार्डवेयर, नेटवर्क इंजीनियर की वैकेंसी भी बड़ी संख्या में पोस्ट की गई हैं।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Corona के एक और खतरनाक C.1.2 वेरिएंट की दस्तक, Vaccine को भी दे सकता है चकमा

दुनिया के तमाम देश अभी भी कोरोना से जूझ रहे हैं, वहीं भारत में तीसरी लहर की आशंका भी जताई …