भारत के 170 जिले कोरोना हॉटस्पॉट घोषित, 207 जिले पोटेंशियल हॉटस्पॉट

वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 25 मार्च से 14 अप्रैल के बीच 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन को बढ़ाकर 3 मई, 2020 तक कर दिए जाने के बीच भारत के 170 जिलों को कोरोना हॉटस्पॉट घोषित किया गया है, जबकि 207 जिलों की पहचान पोटेंशियल हॉटस्पॉट के रूप में पहचान किया गया है।

देश के 170 जिले कोरोना हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित

वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 25 मार्च से 14 अप्रैल के बीच 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन को बढ़ाकर 3 मई, 2020 तक कर दिए जाने के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने भारत के सभी 718 जिलों का कोरोना वायरस के असर की गंभीरता के आधार पर वर्गीकरण किया है। भारत के कुल 718 जिलों में 170 जिलों को कोरोना हॉटस्पॉट घोषित किया गया है, जबकि 207 जिलों की पहचान पोटेंशियल हॉटस्पॉट के रूप में किया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, भारत के कुल 400 जिले ऐसे निकले है, जिन्हें ग्रीन जोन घोषित किया गया, यानि इन जिलों में अब तक कोरोना वायरस प्रवेश नहीं कर सका है।

देश के 207 जिलों की पहचान पोटेंशियल हॉटस्पॉट के रूप में

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने बताया कि घर-घर जाकर किए गए सर्वेक्षण के बाद कोरोना हॉटस्पॉट और ग्रीन जोन की पहचान की गई है, भारत के कुल 170 जिलों को कोरोना हॉटस्पॉट के तौर पर चिन्हित किया गया है, जबकि 207 जिलों की पहचान पोटेंशियल हॉटस्पॉट के रूप में की गई है। उन्होंने बताया कि देशभर में कोरोना हॉटस्पॉट से निपटने के लिए राज्यों को गाइटलाइंस जारी किए गए हैं तथा स्पेशल टीमें नए रोगियों की तलाश करेगी, भारत के लिए खुशखबरी है कि अब तक देश में कोरोना वायरस का कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू नहीं हुआ है।

भारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू नहीं

लव अग्रवाल ने बताया कि आवश्यक सेवाओं से संबंधित क्षेत्रों को छोड़कर लोगों के एकत्रित होने की अनुमति नहीं दी जाएगी, अभी तक कोरोना वायरस का कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू नहीं हुआ है, यानि तीसरे चरण में नहीं पहुंचा है, हालांकि कुछ लोग स्थानीय स्तर पर संक्रमित जरूर हुए हैं। उन्होंने बताया कि भारत में कोरोना वायरस रोगियों की ठीक होने की दर धीरे-धीरे बढ़ रही है तथा वर्तमान में 11.41 प्रतिशत कोरोना मरीज इस बीमारी से उबर चुके हैं। लव अग्रवाल ने बताया हम कोविड-19 रोगियों के इलाज के लिए उचित प्रोटोकॉल का पालन करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 12 हजार के पार, मरने वालों की संख्या 422 पहुंची

गौरतलब है कि अब तक भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 12,400 को पार कर चुकी है, कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 1513 हो गई है, जबकि कोरोना महामारी से मरने वालों की संख्या 422 हो चुकी है। अब तक पूरे विश्व में कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या करीब 20 लाख, 83 हजार पहुंच चुकी है तथा इससे मरने वालों की संख्या करीब 1 लाख, 34 हजार को पार कर चुकी है। विश्व में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या अमेरिका में करीब 6 लाख 44 हजार पहुंच चुकी है, जबकि इससे मरने वालों की संख्या यहां करीब 28,500 हो चुकी है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …