Bihar: धमकी के बाद गजेंद्र ने मांझी पर लुटाया प्यार, कहा- मांझी को लगा लूंगा गले, लेकिन रखी शर्त…जानिए

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की जीभ काटने की धमकी देने वाले भाजपा नेता गजेंद्र झा ने अब उन प्यार लुटा रहा है। गजेंद्र झा ने कहा है कि मैं चैलेंज करता हूं कि मांझी अगर हिन्दू एकता को बरकरार रखना चाहते हैं तो वे बिना शर्त अपने बयानों के लिए माफी मांग लें, हम भी बिना शर्त उनको गले लगा लेंगे।

मांझी हिंदुओं को तोड़ना चाहते हैं- गजेंद्र
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की जुबान काटने वाले ब्राह्मण को 11 लाख रुपए इनाम देने की घोषणा कर सुर्खियों में आए गजेंद्र झा का आज 24 दिसंबर को नया बयान सामने आया है। विवादित बयान देने के बाद भाजपा से निलंबित किए गए गजेंद्र झा ने आज पटना में प्रेस कांफ्रेंस में कर कहा कि मांझी हिंदुओं के हक को छीनना चाहते हैं, वो हिंदुओं को तोड़ना चाहते हैं, लेकिन वो ये जान लें कि अगर वे ब्राह्मणों को 100 बार गाली देंगे, तो ये गजेंद्र झा 100 बार उनकी जीभ काटेगा।

कोई ब्राह्मण नहीं जाएगा मांझी के घर- गजेंद्र
जीतन राम मांझी द्वारा सशर्त ब्राह्मण-पंडित भोज का आयोजन किए जाने के संबंध में गजेंद्र झा ने कहा कि ‘बिना शर्त के अगर मांझी ब्राह्मणों को आदर सहित बुलाते हैं, तो पूरा ब्राह्मण समाज उनके पास जाएगा, मैं खुद भी जाऊंगा, लेकिन जिस तरह वे बार-बार ब्राह्मणों का अपमान कर रहे हैं, ऐसे में ब्राह्मण समाज का कोई भी बेटा जो कुल खानदान को लेकर चलता है, वो मांझी के घर नहीं जाएगा।’

मांझी माफी मांग लें, हम उनको गले लगा लेंगे- गजेंद्र
गजेंद्र झा ने कहा कि ‘मैं चैलेंज करता हूं कि मांझी अगर हिन्दू एकता को बरकरार रखना चाहते हैं तो वे बिना शर्त अपने बयानों के लिए माफी मांग लें, हम भी बिना शर्त उनको गले लगा लेंगे।’ दरअसल, जीतन राम मांझी ने 27 दिसंबर 2021 को ब्राह्मण-पंडित भोज कराने का ऐलान किया है, हालांकि उन्होंने ये शर्त रखा है कि वैसे ही ब्राह्मण भोज में आएंगे, जिन्होंने कभी कोई गलत काम नहीं किया हो, जिसने कभी मांस-मदिरा का सेवन नहीं किया हो, उनके इसी ऐलान के बाद आज गजेंद्र झा ने पीसी कर उक्त बातों को बोला है।

मांझी ने दिया था ब्राह्मणों को लेकर विवादित बयान
गौरतलब है कि बीते दिनों एक कार्यक्रम के दौरान जीतन राम मांझी ने ब्राह्मणों को लेकर विवादित बयान दिया था, वहीं आलोचनाओं में घिरने के बाद उन्होंने माफी तो मांगी, लेकिन इस दौरान भी उन्होंने अपनी बातों को जस्टिफाई करते हुए कहा कि वैसे पंडित जो दलितों को मूर्ख बनाते हैं, पाप करते हैं, वे उन्हें गाली जरूर देंगे, ऐसा कहने के बाद उन्होंने सशर्त भोज का ऐलान किया, जिसके बाद गजेंद्र झा ने उन पर पलटवार किया है। ध्यान रहे कि मांझी के सत्यनारायण भगवान और ब्राह्मणों पर टिप्पणी के बाद भाजपा नेता गजेंद्र झा ने उनकी जुबान काटने पर ईनाम का ऐलान किया था, मांझी की जुबान काटने वाले को 11 लाख रुपए देने संबंधी बयान पर गजेंद्र झा को भाजपा से किय गया है और उन्हें 15 दिनों के भीतर स्पष्टीकरण देने को भी कहा गया है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

दिल्ली में फिर गहराया कोरोना का खतरा, पिछले 24 घंटे में मिले कोरोना के 180 नए केस

देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से कोरोना के नए मामलों में तेजी देख जा रही है। दिल्ली…