CM भगवंत मान के नशे में होने के कारण फ्लाइट में हुई थी देरी? लुफ्थांसा एयरलाइंस का आया ये रिएक्शन

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर आरोप लग रहा है कि उनके नशे में होने की वजह से फ्लाइट को उड़ान भरने में देरी हुई। एक यूजर के सवाल पर लुफ्थांसा एयरलाइंस ने प्रतिक्रिया दी है।

लुफ्थांसा एयरलाइंस की फ्लाइट में हुई थी देरी
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर आरोप लग रहा है कि उनके शराब के नशे में धुत होने के कारण जर्मन एयरलाइंस लुफ्थांसा (Lufthansa Airlines) की फ्लाइट में देरी हुई। शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से मुख्यमंत्री भगवंत मान पर यह आरोप लगाया। इस मामले पर अब लुफ्थांसा एयरलाइंस की प्रतिक्रिया आई है।

लुफ्थांसा एयरलाइंस ने दी प्रतिक्रिया
दरअसल, एक यूजर ने विमान कंपनी को ट्विटर पर टैग करते हुए पूछा कि क्या एक भारतीय का नशे में होना निर्धारित उड़ान में देरी के लिए संभावित खतरा बना? इसके जवाब में लुफ्थांसा एयरलाइंस ने लिखा कि ‘आने वाली उड़ान में देरी और एक विमान परिवर्तन के कारण फ्रैंकफर्ट से दिल्ली के लिए हमारी उड़ान निर्धारित शेड्यूल से देरी से रवाना हुई।’ लुफ्थांसा एयरलाइंस ने यूजर के सवाल का जवाब दिया है लेकिन अभी मामले में उसका आधिकारिक बयान आना बाकी है। लुफ्थांसा एयरलाइंस ने अभी तक इस बात की पुष्टि या खंडन नहीं किया है कि फ्लाइट की देरी में सीएम भगवंत मान शामिल थे या नहीं।

सीएम मान गए थे जर्मनी दौरे पर
ध्यान रहे कि सीएम भगवंत मान 11 से 18 सितंबर 2022 तक जर्मनी के दौरे पर थे। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि नशे में धुत होने के कारण भगवंत मान को फ्रेंकफर्ट में लुफ्थांसा के विमान से उतार दिया गया था, जो कि दिल्ली के लिए रवाना होने वाला था। भगवंत मान पर आरोप लगा कि उनके नशे में होने की वजह से फ्लाइट को उड़ान भरने में देरी हो गई थी।

क्या कहा सुखबीर सिंह बादल ने?
इस मामले को लेकर शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर बादल ने भगवंत मान पर दुनियाभर के पंजाबियों को शर्मिंदा करने तक का आरोप लगाया। सुखबीर बादल ने ट्वीट में लिखा कि ‘सह-यात्रियों के हवाले से परेशान करने वाली मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को लुफ्थांसा की फ्लाइट से इसलिए उतारा गया, क्योंकि उन्होंने इतनी शराब पी रखी थी कि चल भी नहीं पा रहे थे और उड़ान में 4 घंटे की देरी हुई, वह आप के राष्ट्रीय अधिवेशन में नहीं जा पाए, इन खबरों ने शर्मसार किया है और दुनियाभर के पंजाबियों को शर्मिंदा किया है।’ सुखबीर बादल ने आगे लिखा कि ‘यह चौंकाने वाला है कि पंजाब सरकार अपने मुख्यमंत्री को लेकर इन रिपोर्टों पर चुप है, अरविंद केजरीवाल को मामले पर सफाई देनी चाहिए। भारत सरकार को कदम उठाना चाहिए, क्योंकि इसमें पंजाबी और राष्ट्रीय गौरव शामिल है। अगर उन्हें विमान से उतारा गया था तो भारत सरकार को अपने जर्मन समकक्ष के साथ इस मुद्दे को उठाना चाहिए।’

भाजपा नेता प्रवेश वर्मा ने कसा तंज
इस मामले को लेकर भाजपा नेताओं की भी प्रतिक्रियाएं आई। भाजपा नेता प्रवेश वर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि भगवंत मान ने केजरीवाल से वादा किया था कि वह भारत में शराब को हाथ नहीं लगाएंगे, न कि विदेश में।

आरोप निराधार और प्रोपेगेंडा है- आप
आम आदमी पार्टी ने भगवंत मान को लेकर लगाए जा रहे आरोपों का खंडन किया है। आप प्रवक्ता मलविंदर सिंह कांग ने मीडिया को जानकारी दी कि सीएम भगवंत मान अपने तय शेड्यूल के मुताबिक, 19 सितंबर को जर्मनी से फ्लाइट लेकर दिल्ली वापस आ गए थे, इसके लिए वह 18 सितंबर को फ्लाइट में सवार हुए थे, सीएम भगवंत मान पर लगाए जा रहे आरोप निराधार और प्रोपेगेंडा है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

PM मोदी बिहार से लोकसभा चुनाव अभियान का आगाज करेंगे, पश्चिम चंपारण के बेतिया में 13 जनवरी को पहली रैली करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2024 लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत बिहार से कर सकते हैं। न्यूज ए…