IND Vs AUS Test: टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत, ब्रिस्बेन में 70 साल पुराना रिकॉर्ड ध्वस्त

भारतीय क्रिकेट टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर-मौजूदगी में भारतीय क्रिकेट टीम ने अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में इतिहास रच दिया है। ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन में खेले गए चौथे टेस्ट में भारत ने लगातार दूसरी बार ऑस्ट्रेलिया को उसके ही घर में टेस्ट सीरीज में मात दी है।

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से हराया
ब्रिस्बेन के गाबा में खेले गए बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के चौथे टेस्ट में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से हरा दिया। इसके साथ ही भारतीय टीम ने चार टेस्ट मैचों की यह सीरीज भी 2-1 से अपने नाम कर ली। गाबा के मैदान पर पहली बार किसी ने टीम ने 300 से ज्यादा रनों के लक्ष्य का पीछा किया है। गाबा के मैदान पर चौथी पारी में भारत ने 328 रनों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल करते हुए ऐतिहासिक जीत दर्ज की है, भारत ने 7 विकेट के नुकसान पर 329 रन बनाए। इस जीत के साथ ही भारत ने वेस्टइंडीज का 70 साल पुराना रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया है। इससे पहले वेस्टइंडीज ने गाबा के मैदान पर वर्ष 1951 में सर्वोच्च लक्ष्य का पीछा करके जीत हासिल की थी, तब उसने 236 रन बनाए थे।

ब्रिस्बेन टेस्ट के हीरो रहे पंत-गिल
भारत की इस ऐतिहासिक जीत के हीरो रहे विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत और सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल। 328 रनों के लक्ष्य को पीछा करते हुए ऋषभ पंत ने 138 गेंदो में 89 रन बनाकर नाबाद रहे, इस दौरान उन्होंने 9 चौके और 1 छक्का लगाया, इसके साथ ही वह टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 1000 रन बनाने वाले भारतीय विकेटकीपर भी बन गए। वहीं शुभमन गिल ने 146 गेंदो में 91 रनों की शानदार पारी खेली, अपनी इस पारी में उन्होंने 8 चौके और 2 छक्के लगाए। पंत और गिल के अलावा चेतेश्वर पुजारा ने भी टीम इंडिया की जीत में अहम योगदान दिया, उन्होंने 211 गेंदो में 56 रनों की पारी खेलकर एक छोर बांधे रखा।

ब्रिस्बेन में 33 साल के बाद हारा ऑस्ट्रेलिया
ब्रिस्बेन में 33 साल से ऑस्ट्रेलिया नहीं हारा था, लेकिन टीम इंडिया ने इसको भी मुमकिन कर दिखाया और गाबा के मैदान पर ऑस्ट्रेलिया की बादशाहत का अंत कर दिया। ऑस्ट्रेलिया की टीम वर्ष 1988 के बाद यानि 33 साल से गाबा के मैदान पर टेस्ट मैच नहीं हारी थी, ऑस्ट्रेलियाई टीम ने ब्रिस्बेन में पिछले सातों टेस्ट मैच जीते थे, लेकिन भारत ने उसका गुरूर तोड़ दिया। ऑस्ट्रेलिया ने ब्रिस्बेन (1931-2019) में कुल 63 मैच खेले हैं, उसमें 40 में जीत मिली है, उसने 13 ड्रॉ खेले तथा 9 हारे हैं, इस दौरान 1 मैच टाई रहा, यहां भारतीय टीम ने 7 मैच में आज पहली जीत दर्ज कर ली है।

लगातार तीसरी बार बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पर कब्जा
गौरतलब है कि भारतीय टीम ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी लगातार तीसरी बार अपने नाम कर जीत की हैट्रिक लगाई है। पिछली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसके ही घर में वर्ष 2018-19 टेस्ट सीरीज में 2-1 से हराया था, जबकि 2016-17 में भारत ने अपने घर में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 के ही अंतर से मात दी थी।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …