G-20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता करेगा भारत, 2023 में दिल्ली में होगा G-20 लीडर्स समिट

जी-20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता दिसंबर 2022 से लेकर नवंबर 2023 के बीच भारत करेगा। भारत सितंबर 2023 में दिल्ली में जी-20 लीडर्स समिट (G-20 Leaders Summit) की मेजबानी करेगा।

देशभर में आयोजित होंगी 200 बैठकें
भारत 8 से 10 सितंबर 2023 के बीच दिल्ली में जी-20 लीडर्स समिट की मेजबानी करेगा। 1 दिसंबर 2022 से लेकर 30 नवंबर 2023 तक जी-20 की अध्यक्षता भारत के अंतर्गत होगी। इस अध्यक्षता के दौरान भारत में 200 से अधिक जी-20 बैठकों की मेजबानी करने की उम्मीद है। भारत के विदेश मंत्रालय ने इस बारे में बयान जारी किया है।

जी-20 में हैं 19 देश व यूरोपीय संघ
जी-20 या ग्रुप ऑफ ट्वेंटी दुनिया की प्रमुख विकसित और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं का एक अंतर-सरकारी मंच है, इसमें 19 देश और यूरोपीय संघ शामिल हैं, ये हें- अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, यूके, यूएसए और यूरोपीय संघ (ईयू) शामिल हैं।

भारत है ट्रोइका का हिस्सा
सामूहिक रूप से G-20 वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का 85%, अंतरराष्ट्रीय व्यापार का 75% और विश्व जनसंख्या का दो-तिहाई हिस्सा है, जो इसे अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग का प्रमुख मंच बनाता है। भारत वर्तमान में G-20 Troika (वर्तमान, पिछली और आने वाली G-20 प्रेसीडेंसी) का हिस्सा है जिसमें इंडोनेशिया, इटली और भारत शामिल हैं। हमारी अध्यक्षता के दौरान भारत, इंडोनेशिया और ब्राजील इस तिकड़ी का निर्माण करेंगे। यह पहली बार होगा जब ट्रोइका में 3 विकासशील देश और उभरती अर्थव्यवस्थाएं शामिल होंगी, जो उन्हें एक बड़ा मंच प्रदान करेंगी।

अतिथि देशों को किया जाएगा आमंत्रित
G-20 सदस्यों के अलावा G-20 प्रेसीडेंसी द्वारा कुछ अतिथि देशों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों (IOs) को G-20 बैठकों और शिखर सम्मेलन में आमंत्रित करने की परंपरा रही है। नियमित अंतरराष्ट्रीय संगठनों (यूएन, आईएमएफ, विश्व बैंक, डब्ल्यूएचओ, डब्ल्यूटीओ, आईएलओ, एफएसबी और ओईसीडी) और क्षेत्रीय संगठनों (एयू, ऑडा-नेपाड और आसियान) के अध्यक्षों के अलावा भारत अतिथि देशों के रूप में बांग्लादेश, मिस्र, मॉरीशस, नीदरलैंड, नाइजीरिया, ओमान, सिंगापुर, स्पेन और संयुक्त अरब अमीरात को आमंत्रित करेगा। साथ ही भारत आईएसए (अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन), सीडीआरआई (आपदा लचीला बुनियादी ढांचे के लिए गठबंधन) और एडीबी (एशियाई विकास बैंक) को अतिथि आईओ के रूप में आमंत्रित करेगा।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

PM मोदी बिहार से लोकसभा चुनाव अभियान का आगाज करेंगे, पश्चिम चंपारण के बेतिया में 13 जनवरी को पहली रैली करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2024 लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत बिहार से कर सकते हैं। न्यूज ए…