HDI 2021: मानव विकास सूचकांक में भारत 132वें स्थान पर खिसका, 2020 में था 131वें स्थान पर

मानव विकास सूचकांक 2021 (Human Development Index 2021) की रिपोर्ट जारी की गई है, जिसमें भारत की स्थिति अच्छी नहीं है, भारत साल 2020 की तुलना में एक स्थान और नीचे आ गया है, भारत अब मानव विकास सूचकांक में 132वें स्थान पर आ गया है।

191 देशों में भारत 132वें स्थान पर
संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) के तहत 191 देशों के मानव विकास सूचकांक 2021 (Human Development Index 2021) की रिपोर्ट जारी की गई है, जिसमें भारत पिछले बार की तुलना में एक स्थान नीच लुढ़का है। मानव विकास सूचकांक 2021 (HDI 2021) में भारत 132वें स्थान पर है, इससे पहले साल 2020 में भारत इस मामले में एक पायदान आगे यानि 131वें स्थान पर था, हालांकि 2020 में 189 देशों की सूची साझा की गई थी।

भारत में जीवन प्रत्याशा अब 67.2 वर्ष
मानव विकास सूचकांक 2021 में भारत का एडीआई मान 0.6333 है, इस मानदंड के मुताबिक, भारत मध्यम मानव विकास श्रेणी में है, यह एचडीआई मान 2020 की रिपोर्ट में इसके मान 0.645 से कम है। रिपोर्ट के मुताबिक, इसके लिए जीवन प्रत्याशा में गिरावट को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, भारत में जीवन प्रत्याशा 69.7 से घटकर 67.2 वर्ष हो गई है।

वैश्विक जीवन प्रत्याशा अब 71.4 साल
रिपोर्ट में कहा गया है कि मानव विकास सूचकांक राष्ट्र के स्वास्थ्य, शिक्षा और औसत आय का संकेतक होता है। यह वैश्विक गिरावट के अनुरूप है, जो दर्शाता है कि दुनिया भर में मानव विकास 32 वर्षों में पहली बार ठप हो गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि मानव विकास सूचकांक की हालिया गिरावट की बड़ी वजह जीवन प्रत्याशा में वैश्विक गिरावट है, जो 2019 में 72.8 साल से घटकर 2021 में 71.4 साल हो गई। नवीनतम मानव विकास रिपोर्ट अनसर्टेन टाइम्स, अनसेटल्ड लाइव्स: शेपिंग अवर फ्यूचर इन ए ट्रांसफार्मिंग व‌र्ल्ड में अनिश्चितता की आशंकाएं जताई गई हैं।

HDI 3 आयामों पर प्रगति को मापता है
ध्यान रहे कि एचडीआई मानव विकास के 3 प्रमुख आयामों पर प्रगति को मापता है- लंबा और स्वस्थ जीवन, शिक्षा तक पहुंच और अच्छा जीवन स्तर। इसकी गणना 4 संकेतकों- जन्म के समय जीवन प्रत्याशा, स्कूली शिक्षा के औसत वर्ष, स्कूली शिक्षा के अपेक्षित वर्ष और प्रति व्यक्ति सकल राष्ट्रीय आय का उपयोग करके की जाती है। रिपोर्ट ने यह भी सुझाव दिया कि पिछले एक दशक में तनाव, उदासी, क्रोध और ¨चता बढ़ रही है, जो अब रिकार्ड स्तर पर पहुंच गई है।

कई पड़ोसी देशों से पीछे भारत
मानव विकास सूचकांक 2021 में नेपाल और पाकिस्तान को छोड़कर भारत बाकी पड़ोसी देशों से पीछे चला गया है। मानव विकास सूचकांक 2021 में श्रीलंका 73वें स्थान पर है, जबकि चीन 79वें, भूटान 127वें, बांग्लादेश 129वें, नेपाल 143वें और पाकिस्तान 161वें स्थान पर रहा।

सूची में स्विटजरलैंड है पहले स्थान पर
मानव विकास सूचकांक 2021 में शीर्ष 5 देशों में स्विटजरलैंड पहले स्थान है, जबकि नॉर्वे दूसरे, आइसलैंड तीसरे, हांगकांग चौथे और ऑस्ट्रेलिया पांचवें स्थान पर है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

PM मोदी बिहार से लोकसभा चुनाव अभियान का आगाज करेंगे, पश्चिम चंपारण के बेतिया में 13 जनवरी को पहली रैली करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2024 लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत बिहार से कर सकते हैं। न्यूज ए…