केजरीवाल ने कहा, हमारी अर्थव्यवस्था संकट में है…दिल्ली में 4 मई से क्या खुलेंगे, क्या बंद रहेंगे जानिए !

वैश्विक महामारी कोविड-19 के खिलाफ पूरी दुनिया के साथ भारत एकजुट होकर लड़ाई लड़ रहा है, जिसके कारण 25 मार्च से 17 मई के बीच लागू देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने 4 मई से प्रतिबंधों में कुछ ढील देने जा रही है।

केजरीवाल सरकार 4 मई से प्रतिबंधों में कुछ ढील देने जा रही है

वैश्विक महामारी कोविड-19 के खिलाफ पूरी दुनिया के साथ भारत एकजुट होकर लड़ाई लड़ रहा है, जिसके कारण 25 मार्च से 17 मई के बीच लागू देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने 4 मई से प्रतिबंधों में कुछ ढील देने जा रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आज प्रेस कॉन्फ्रेस करके बताया कि केंद्र सरकार ने 3 मई के बाद 2 हफ्ते के लिए लॉकडाउन को बढ़ाया है, पूरी दिल्ली रेड जोन में है, इसमें केंद्र सरकार ने जो भी छूट दी हैं, वह सभी छूट हम दिल्ली में 4 मई से देने जा रहे हैं।

33 फीसदी स्टाफ के साथ दिल्ली के सारे प्राइवेट ऑफिस खुलेंगे

केजरीवाल ने कहा कि कल से सभी सरकारी दफ्तर खुलने जा रहे हैं, जो सरकारी दफ्तर आवश्यक सेवाओं से संबंधित हैं, उसमें 100 फीसदी अटेंडेंस होगी, दिल्ली के सारे प्राइवेट ऑफिस खुलेंगे पर इसमें केवल 33 फीसदी स्टाफ के साथ काम करेंगे। ऐसे सरकारी दफ्तर जो आवश्यक सेवाओं से संबंधित नहीं हैं, उनमें डिप्टी सेक्रेटरी स्तर तक 100 स्टाफ आएंगे तथा इससे नीचे के स्तर पर 33 फीसदी स्टाफ आएंगे।

केजरीवाल ने मोदी के लॉकडाउन के फैसले की तारीफ की

केजरीवाल ने केंद्र सरकार तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लॉकडाउन के फैसले की तारीफ करते हुए कहा कि 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन का फैसला करना बहुत महत्वपूर्ण था, अगर हमने लॉकडाउन लागू नहीं की होती तो देश में स्थिति और भयावह हो सकती थी, उस समय देश भी कोरोना महामारी से लड़ने के लिए तैयार नहीं था, हमें सामाजिक भेद का कोई अंदाजा नहीं था, न ही लोग या हॉस्पिटल तैयार थे, हमारे पास कोई पीपीई किट यानि व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण किट या परीक्षण किट नहीं थे।

हमारी अर्थव्यवस्था संकट में है– केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था संकट में है तथा हम लंबे समय तक लॉकडाउन को बरकरार नहीं रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली का राजस्व पिछले वर्ष अप्रैल महीने यानि अप्रैल, 2019 में 3500 करोड़ रुपए था, जो अभी अप्रैल, 2020 में गिर कर 300 करोड़ रुपए हो गया है, ऐसी स्थिति में कैसे काम करेगी सरकार। केजरीवाल ने 4 मई से क्या खुलेंगे तथा क्या बंद रहेंगे, इसकी एक लिस्ट भी जारी की।

हॉटस्पॉट इलाके को छोड़कर 4 मई से जो लागू होंगे वो हैं-

  • प्राइवेट गाड़ियां अधितकतम 2 लोगों के साथ।
  • दो पहिया गाड़ी पर केवल 1 लोग।
  • प्राइवेट तथा सरकारी ऑफिस (अधिकतम 33 फीसदी स्टाफ के साथ)।
  • इनेबल आईटी सर्विस, कॉल सेंटर्स (अधिकतम 33 स्टाफ के साथ)।
  • सरकारी दफ्तर में उप सचिव के ऊपर के सभी अधिकारी।
  • डोमेस्टिक हेल्पर (सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक)।
  • कोल्ड स्टोरेज तथा वेयरहाउस फैसिलिटी।
  • सिक्योरिटी गार्ड तथा स्वरोजगार वाले लोग।
  • औद्योगिक क्षेत्र सीमित पहुंच के साथ।
  • निर्माण कार्य, यदि स्टाफ वहीं रहते हों तब।
  • ई-कामर्स केवल जरूरी सामानों के लिए।
  • कूड़ा प्रबंधन तथा पब्लिक यूटिलिटी में शामिल लोग।
  • बैंक, बीमा, को-ऑपरेटिव सोसाइटी तथा कैपिटल मार्केट।
  • स्वास्थ्य से जुड़ी सेवाएं, पुलिस।
  • आवासीय परिसरों तथा मोहल्ले में सभी दुकानें।
  • शराब की दुकानें।

जिसकी अनुमति नहीं होगी वो हैं-

  • मेट्रो और बस सर्विस।
  • होटल, रेस्टोरेंट, सिनेमा हॉल, मॉल, जिम तथा बार।
  • सामाजिक, राजनीतिक तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम।
  • सभी गैर जरूरी एक्टिविटी (शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक)।
    साइकिल रिक्शा, ऑटो रिक्शा तथा टैक्सी-कैब
  • स्कूल, कॉलेज, कोचिंग।
  • नाई की दुकान, स्पा, सैलून।
  • पूजा, इबादत के स्थल।

दिल्ली में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 4122    

दिल्ली में अब तक कुल 4122 कोरोना पॉजिटिव केस हो गए हैं, कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या यहां 1256 हो गई है, जबकि इससे मरने वालों की संख्या 64 हो चुकी है। दिल्ली के सभी 11 जिले कोरोना हॉटस्पॉट इलाके घोषित किए जा चुके हैं। दिल्ली में अब कोरोना हॉटस्पॉट इलाके घटकर 96 हो चुके हैं।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …