प्रधानमंत्री मोदी देश के पंचायत के सरपंचों-प्रधानों से रूबरू हुए, दो योजनाओं की शुरुआत की

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए 25 मार्च से 3 मई तक 40 दिनों के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए से देशभर के पंचायतों के सरपंचों तथा प्रधानों से बातचीत की, इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर भी चुटकी ली।

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर मोदी सरपंचों तथा प्रधानों से रूबरू हुए

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए 25 मार्च से 3 मई तक 40 दिनों के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए से देशभर के पंचायतों के सरपंचों तथा प्रधानों से रूबरू हुए तथा उन्हें इस दिन की बधाई और शुभकामनाएं भी दी। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने ‘ई-ग्राम स्वराज पोर्टल एवं मोबाइल ऐप’ तथा ‘स्वामित्व योजना’ का शुभारंभ किया।

कोरोना ने हम सभी के काम करने के तरीके को बदल दिया– मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संबोधन में कहा कि कोरोना महामारी ने हम सभी के काम करने के तरीके को बहुत बदल दिया है, पहले हम किसी कार्यक्रम को आमने-सामने रह कर करते थे, लेकिन आज वही कार्यक्रम वीडियो कॉन्फेंसिंग के जरिए से करना पड़ रहा है, इस कार्यक्रम में जुड़े सभी लोगों का मैं हार्दिक स्वागत करता हूं। प्रधानमंत्री मोदी के संग चर्चा के दौरान पंचायतों के सरपंचों तथा प्रधानों ने कोरोना महामारी के दौरान गांवों में किए जा रहे कार्यों के बारे में बताया, इसके बाद मोदी ने सरपंचों तथा प्रधानों से केंद्र सरकार की योजनाओं के बारे में भी पूछा।

मोदी ने कहा, कोरोना ने आत्मनिर्भर बनने का संदेश दिया

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना संकट ने अपना सबसे बड़ा संदेश, सबसे बड़ा सबक हमें यह दिया है कि हमें आत्मनिर्भर बनना पड़ेगा, गांव अपनी मूलभूत आवश्यकताओं के लिए आत्मनिर्भर बने, इसी तरह जिला अपने स्तर पर, राज्य अपने स्तर पर तथा पूरा देश आत्मनिर्भर बने, अब यह बहुत आवश्यक हो गया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा एक दौर वो भी था, जब देश की 100 से भी कम ग्राम पंचायतें ब्रॉडबैंड से जुड़ी थीं, परंतु आज सवा लाख से ज्यादा ग्राम पंचायतों तक ब्रॉडबैंड पहुंच चुका है।

कोरोना बड़ा विचित्र वायरस है- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस बड़ा विचित्र वायरस है, वह अपने आप कहीं नहीं जाता है, अगर आप कोरोना को बुलाने जाएंगे, लेने जाएंगे तो वह आपके साथ घर में घुस जाएगा, इसलिए दो गज की दूरी वाला मंत्र गूंजते रहना चाहिए यानि सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि देशव्यापी लॉकडाउन में देश के गांवों ने संस्कारों से अच्छी शिक्षा दी है, गांवों से अपडेट आ रही है, वह बड़े-बड़े लोगों को प्ररेणा देने वाली है, हिंदुस्तान के हर गांव वासियों को प्रणाम करता हूं।

गांवों ने दिया दुनिया को दो गज दूरी का मंत्र

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आप सभी ने दुनिया को मंत्र दिया है कि दो गज दूरी का, या कहें दो गज देह की दूरी का, इस मंत्र के पालन पर गांवों में बहुत ध्यान दिया जा रहा है, यह आपके ही प्रयास हैं कि आज दुनिया में चर्चा हो रही हैं कि कोरोना महामारी को भारत ने किस तरह जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी यह वैश्विक महामारी कोरोना आई, लेकिन इन 2-3 महीनों में हमने यह भी देखा है कि देश के हर नागरिक सीमित संसाधनों के बीच अनेक कठिनाइयों के सामने झुकने के बजाय उससे लड़ाई लड़ रहे हैं।

पंचायतें मजबूत होंगी, उतना ही लोकतंत्र भी मजबूत होगा– मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देशव्यापी लॉकडाउन के कारण रुकावटें आ रही हैं, परेशानी हो रही है, लेकिन संकल्प के साथ नई ऊर्जा के साथ आगे बढ़ते हुए नए-नए तरीके खोजते हुए देश को बचाने का तथा देश को आगे बढ़ाने का काम भी निरंतर जारी है। उन्होंने कहा कि हमारे देश की ग्राम पंचायतों की इसमें बहुत बड़ी भूमिका है, मजबूत पंचायतों आत्मनिर्भर गांव का आधार है, जितना पंचायतें मजबूत होंगी उतना ही लोकतंत्र भी मजबूत होगा।

मोदी ने राजीव गांधी पर भी चुटकी ली

प्रधानमंत्री मोदी ने पंचायतों के सरपंचों तथा प्रधानों से पूछा कि केंद्रीय योजनाओं का कैसे लाभ ले रहे हैं तथा उनकी प्रतिक्रिया क्या है, उन्होंने पूछा कि पहले लोग कहते थे कि केंद्र सरकार से 1 रुपया चलता है तो केवल 15 पैसा ही पहुंचता है, आज 1 रुपया निकलता है, तो 100 के 100 पैसा लाभार्थियों के खाते में जमा हो जाता है। प्रधानमंत्री मोदी ने उतर प्रदेश के एक ग्राम प्रधान से पूछा कि क्या अब गांव में लोगों के पास पूरा पैसा पहुंचता है, इससे लोग संतुष्ट हैं कि नहीं, तो प्रधान ने उतर दिया कि जनता खुश है, सरकारी पैसों का पूरी सदुपयोग हो रहा है। गौरतलब है कि एक बार पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कहा था कि अगर दिल्ली से 1 रुपया चलता है तो गरीब के पास केवल 15 पैसे पहुंचते हैं।

ई-ग्राम स्वराज पोर्टल एवं मोबाइल ऐप तथा स्वामित्व योजना की शुरुआत

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि गांव के आधारभूत संरचना को मजबूत करने के लिए शहरों तथा गांवों में दूरी को कम करने के लिए आज केंद्र सरकार द्वारा दो बड़े प्रोजेक्ट शुरू किए गए हैं- ‘ई-ग्राम स्वराज पोर्टल एवं मोबाइल ऐप’ तथा ‘स्वामित्व योजना’। ई-ग्राम स्वराज दरअसल, ग्राम पंचायत विकास योजनाओं को तैयार करने तथा उनके कार्यान्वयन में मदद करता है, यह पोर्टल वास्तविक समय पर निगराना तथा जवाबदेही सुनिश्चित करेगा, इतना ही नहीं यह पोर्टल ग्राम पंचायत स्तर पर डिजिटलीकरण की दिशा में एक बड़ा कदम है।

स्वामित्व योजना देश के 6 राज्यों में प्रायोगिक तौर पर प्रारंभ

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि स्वामित्व योजना गांव की संपत्तियों को ठीक करने का प्रयास है, देश के सभी गांवों में की संपत्ति की ड्रोन से मैपिंग की जाएगी, गांव के लोगों को एक मालिकाना प्रमाणपत्र दिया जाएगा, संपत्ति को लेकर जो भ्रम की स्थिति रहती है, वह दूर हो जाएंगे, इससे गांव में विकास योजनाओं की प्लानिंग सही तरीके से होगी, शहरों की तरह ही गांवों में भी आप बैंकों से लोन ले सकते हैं। स्वामित्व योजना देश के 6 राज्यों उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा, मध्य प्रदेश तथा उत्तराखंड में प्रायोगिक तौर पर प्रारंभ किया गया है।

भारत में कोरोना पॉजिटिव केस 24 हजार के पार, मरने वालों की संख्या 758 पहुंची

गौरतलब है कि अब तक भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की कुल संख्या करीब 23,250 हो चुकी है, कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 5271 हो गई है, जबकि कोरोना से मरने वालों की संख्या 758 हो चुकी है। अब तक पूरे विश्व में कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 27 लाख, 62 हजार को पार कर चुकी है तथा इससे मरने वालों की संख्या करीब 1 लाख, 93 हजार पहुंच चुकी है। विश्व में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या अमेरिका में करीब 8 लाख 89 हजार पहुंच चुकी है, जबकि इससे मरने वालों की संख्या यहां करीब 50,300 हो चुकी है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

PM मोदी का बड़ा बयान, कहा- ‘मैं किसी को डराने या चकमा देने के लिए फैसले नहीं लेता, मैं देश के पूरे विकास के लिए फैसले लेता हूं’

इंडियन इकोनॉमी पर बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘जहां तक 2047 विजन …