शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट में पांच मंत्रियों को शामिल किया, दो सिंधिया खेमे से

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 25 मार्च से 3 मई तक 40 दिनों के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया है। दरअसल, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कैबिनेट में उनके अलावा कोई मंत्री नहीं था।

शिवराज कैबिनेट में 5 मंत्रियों को शामिल किया गया

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 25 मार्च से 3 मई तक 40 दिनों के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान मध्य प्रदेश में आज मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया है, क्योंकि अभी तक 23 मार्च से यानि शिवराज सिंह चौहान के मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के दिन से शिवराज सिंह चौहान के कैबिनेट में उनके अलावा कोई मंत्री नहीं था। अब मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कैबिनेट में 5 मंत्रियों को शामिल किया गया है।

शपथ समारोह में शिवराज सिंह के साथ उमा भारती भी मौजूद थीं।

आज दोपहर 12 बजे मध्य प्रदेश के राजभवन में आयोजित सादे समारोह में मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने 5 कैबिनेट मंत्रियों को शपथ दिलाई। शिवराज सिंह चौहान के कैबिनेट में आज शामिल होने वाले 5 मंत्री नरोत्तम मिश्रा, तुलसी सिलावट, कमल पटेल, गोविंद सिंह राजपूत तथा मीना सिंह हैं। शपथ ग्रहण समारोह में सोशल डिस्टेसिंग का भी पूरा ख्याल रखा गया था, शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती भी राजभवन में मौजूद थीं।

दो मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी हैं

मध्य प्रदेश के मंत्रिमंडल विस्तार में भाजपा ने सभी खेमे के लोगों को साधने की कोशिश की है, जिन 5 लोगों ने शपथ ली है, उनमें 3 भाजपा के कद्दावर नेता रहे हैं तथा 2 मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया कोटे के हैं। नरोत्तम मिश्रा दतिया से विधायक हैं, ये पहले भी शिवराज सिंह चौहान के तीनों कार्यकाल में मंत्रिमंडल में शामिल रहे हैं, मध्यप्रदेश में ऑपरेशन लोटस के दौरान इनकी बड़ी भूमिका थी। कमल पटेल हरदा से विधायक हैं, ये शिवराज सिंह चौहान के पिछले कार्यकाल में अपनी ही सरकार के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया था, ये पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती की करीबी हैं।

मध्य प्रदेश में कुल 1485 कोरोना पॉजिटिव केस

मीना सिंह भाजपा की आदिवासी चेहरा हैं, ये आदिवासियों तथा महिलाओं की समस्या को लेकर काफी मुखर रही हैं। तुलसी सिलावट ज्योतिरादित्य सिंधिया के सबसे खास लोगों में शुमार होते हैं, ये कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में आए हैं। तुलसी सिलावट कमलनाथ की सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे थे। गोविंद सिंह राजपूत भी ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुट के हैं, उन्होंने भी कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हुए थे। गोविंद सिंह राजपूत कमलनाथ की सरकार में परिवहन मंत्री थे। ध्यान रहे कि मध्य प्रदेश में कोरोना महामारी की रफ्तार काफी तेज है, मध्य प्रदेश में अब तक 1485 कोरोना पॉजिटिव केस हो चुके हैं। मध्य प्रदेश में 138 कोरोना मरीज ठीक हुए हैं, जबकि 76 लोगों की मौत हो चुकी है।

भारत में कोरोना पॉजिटिव केस 19 हजार के पार, मरने वालों की संख्या 601 पहुंची

गौरतलब है कि अब तक भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की कुल संख्या करीब 19 हजार को पार कर चुकी है, कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 3290 हो गई है, जबकि कोरोना से मरने वालों की संख्या 601 हो चुकी है। अब तक पूरे विश्व में कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 25 लाख को पार कर चुकी है तथा इससे मरने वालों की संख्या करीब 1 लाख, 71 हजार पहुंच चुकी है। विश्व में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या अमेरिका में करीब 7 लाख 93 हजार पहुंच चुकी है, जबकि इससे मरने वालों की संख्या यहां करीब 42,500 हो चुकी है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …