दिल्ली की केजरीवाल सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को बताया पड़ोसी देश, प्रेम तमांग ने इस विज्ञापन पर गहरी आपत्ति जताई…जानिए पूरा मामला ?

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने एक भयंकर गलती की है, जो काफी हैरान करने वाली बात है। दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन में सिक्किम को हमारे पड़ोसी देशों भूटान तथा नेपाल की श्रेणी में रख दिया गया है।

दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को भूटान तथा नेपाल की श्रेणी में रख दिया

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने एक भयंकर गलती की है, जो काफी हैरान करने वाली बात है। दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन में सिक्किम को हमारे पड़ोसी देशों भूटान तथा नेपाल की श्रेणी में रख दिया गया है। अखबार में विज्ञापन प्रकाशित होते ही सिक्किम सरकार ने बेहद कड़ी आपत्ति जताते हुए दिल्ली सरकार से इसे तुरंत वापस लेने की मांग की। दिल्ली सरकार ने भी मामले की गंभीरता को समझते हुए तुरंत एक्शन लिया तथा इस विज्ञापन को वापस लेते हुए संबंधित ऑफिसर को निलंबित कर दिया।

सिक्किम भारत का अभिन्न अंग, इस तरह की गलतियां बर्दाश्त नहीं– केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज ट्विट कर इसकी जानकारी दी और कहा कि सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है, इस तरह की गलतियों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है, विज्ञापन वापस लिया जा चुका है तथा संबंधित ऑफिसर के खिलाफ कार्रवाई की गई है। केजरीवाल ने ये बातें दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल के ट्विट को रीट्विट करते हुए कहीं।

इस तरह के गंभीर दुराचार के प्रति जीरो टॉलरेंसबैजल

अनिल बैजल ने अपने ट्विट में लिखा कि विज्ञापन के जरिए सिक्किम को पड़ोसी देशों की श्रेणी में रख कर भारत की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान करने के कारण सिविल डिफेंस डायरेक्टरेट हेडक्वॉर्टर के एक सीनियर ऑफिसर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बैजल ने  आगे लिखा कि ‘इस तरह के गंभीर दुराचार के प्रति जीरो टॉलरेंस! विज्ञापन को वापस लेने का भी निर्देश दे दिया गया है।’

सिक्किम के मुख्य सचिव ने दिल्ली सरकार को पत्र लिख कर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई

ध्यान रहे कि यह बवाल तब शुरू हुआ जब दिल्ली सरकार की तरफ से सिविल डिफेंस कॉर्प में वॉल्युंटिअर के लिए ऐडवर्टिजमेंट प्रकाशित किया गया, इसमें अभ्यर्थियों के लिए अर्हता सूची में पहले नंबर पर निवास स्थान का जिक्र किया गया, इसमें लिखा गया है कि भारत का नागरिक या सिक्किम अथवा भूटान अथवा नेपाल की जनता और दिल्ली के निवासी। इसका पता चलते ही सिक्किम के मुख्य सचिव एस सी गुप्ता ने दिल्ली सरकार को पत्र लिख कर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई तथा दिल्ली सरकार से इस अपमान जनक विज्ञापन को तुरंत वापस लेने की मांग की तथा इसे लोगों के लिए बेहद पीड़ादायक बताया।

यह विज्ञापन बिल्कुल निंदनीय, मैं दिल्ली सरकार से गलती सुधारने का आग्रह करता हूं– तमांग

इस मामले को लेकर सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने भी ट्विट कर इस विज्ञापन पर गहरी आपत्ति जताई तथा लिखा सिक्किम भारत का हिस्सा है, यह विज्ञापन बिल्कुल निंदनीय है और मैं दिल्ली सरकार से गलती सुधारने का आग्रह करता हूं। तमांग ने अपने अगले ट्विट में लिखा कि दिल्ली सरकार का यह विज्ञापन विभिन्न प्रिंट मीडिया में प्रकाशित हुआ है, जिसमें सिक्किम को भूटान और नेपाल जैसे देशों के साथ रखा गया है, सिक्किम 1975 से भारत का अंग है और एक हफ्ता पहले ही राज्य की स्थापना दिवस मनाया है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

टैक्सपेयर्स के लिए बड़ी राहत, ‘विवाद से विश्वास’ स्कीम के तहत पेमेंट की डेडलाइन 30 सितंबर तक बढ़ाई गई

केंद्र सरकार ने विवाद से विश्वास स्कीम के तहत पेमेंट की डेडलाइन एक महीने बढ़ा दी है, जबकि …