मोदी की अपील पर कोरोना के खिलाफ भारतीयों ने कायम की नई मिशाल

वैश्विक महामारी कोविड-19 संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर आज देशवासियों ने एक नई मिशाल कायम की। पूरा देशवासियों ने कोरोना महामारी के खिलाफ एकजुटता का परिचय दिया।

लोगों ने कोरोना के खिलाफ एकजुटता का परिचय दिया

वैश्विक महामारी कोविड-19 संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर आज देशवासियों ने कोरोना महामारी के खिलाफ एक एकजुटता का परिचय देते हुई एक नई मिशाल कायम की। प्रधानमंत्री मोदी की अपील पर सभी भारतवासियों ने आज शाम 9 बजे अपने घरों की लाइट बंद करके अपने दरवाजे तथा बालकनी में खड़े होकर दीया, मोमबत्ती, टॉर्च की लाइट और मोबाइल की लाइट जलाया, मानो आज दूसरी दीपावली ही थी। जैसे ही शाम के 9 बजे उसी तरह पूरे देशवासियों ने अपने घरों के लाइट को बंद करके अपने घर के दरवाजे और बालकनी ने खड़े होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील को सार्थक बनाया, पूरा देश कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एकजुट दिखा। इस दौरान कुछ लोगों ने पटाखे भी छोड़े और कोरोना के खिलाफ नारे भी लगाए।

कोरोना महामारी के खिलाफ दीपावली मनाया गया

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी शाम 9 बजे राष्ट्रपति भवन के बाहर आकर दरवाजे पर मोमबती जलाए, वहीं भाजपा के सबसे वरिष्ठ नेता व पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकष्ण आडवाणी ने भी अपने घर के बादर दीया जलाए। प्रधानमंत्री मोदी के अपील पर आज रात 9 बजे देश के सभी प्रमुख स्वास्थ्य संस्थानों, शैक्षणिक संस्थानों, संसद भवन, सुप्रीम कोर्ट आदि के बाहर भी दीया और मोबबत्ती जलाए गए। पूरे देशभर के शहरों और गांवों में कोरोना महामारी के खिलाई लड़ाई का आज एक बेहतरीन दृश्य देखने को मिला, लोगों के बीच एक ऐतिहासिक एकजुटता दिखी।

मोदी ने देशवासियों से की थी अपील

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 अप्रैल को कोविड-19 के खिलाफ लड़ रहे देशवासियों के नाम अपने वीडियो संदेश के जरिए देश के लोगों से कहा था हमलोग 5 अप्रैल को रात 9 बजे अपने घरों की लाइट बंद कर के 9 मिनट तक घर के दरवाजे पर या बालकनी में खड़े रहकर दीया, मोमबत्ती, टॉर्च की लाइट या मोबाइल की लाइट जलाएं, इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन ना करें और घरों के बाहर न निकलें। उन्होंने कहा था कि पूरे दुनिया को प्रकाश की ओर ले जाना है, ऐसा करने से एहसास होगा कि हम अकेले नहीं हैं, उस प्रकाश में, उस रोशनी में, उस उजाले में हम अपने मन में ये संकल्प करें कि हम अकेले नहीं हैं, कोई भी अकेला नहीं है, हम 130 करोड़ देशवासी साथ हैं।

जनता कर्फ्यू के दिन भी लोगों ने दिखाई थी एकजुटता

ध्यान रहे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन शाम 5 बजे 5 मिनट तक पूरे देश वासियों ने कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाले सभी लोगों का धन्यवाद ताली, थाली, घंटी तथा शंघ बजाकर किया था। गौरतलब है अब तक भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की कुल संख्या करीब 4 हजार हो चुकी है, जबकि कोरोना महामारी से मरने वालों की संख्या करीब 125 हो चुकी है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …