कंगना रनौत को मिला वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा…कंगना ने दिया शाह को धन्यवाद

बॉलीवुड की चर्चित व विवादित अभिनेत्री कंगना रनौत को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान किया है। कंगना रनौत बॉलीवुड की पहली कलाकार बन गयी हैं, जिन्हें वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी गई है।

कंगना को मिला वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा
कंगना रनौत को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने के बाद सुरक्षा घेरे के तहत केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानि सीआरपीएफ के स्पेशल कमांडो उनकी हिफाजत करेंगे। कंगना ने खुद को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिलने पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद दिया है। ध्यान रहे कि देश का सबसे बड़ा अर्द्धसैन्य बल सीआरपीएफ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, देश के प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी समेत करीब 60 विशिष्ट लोगों को सुरक्षा मुहैया करा रहा है।

मुकेश अंबानी को मिला है जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा
ध्यान रहे कि सीआरपीएफ के कर्मी रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी की भी हिफाजत करते हैं। मुकेश अंबानी को जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई, जबकि उनकी पत्नी को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा हासिल है, हालांकि, केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से मिलने वाली इस सुरक्षा के बदले उन्हें रकम का भुगतान करना पड़ता है।

10-11 कमांडो 24 घंटे कंगना की रक्षा करेंगे
फिलहाल, यह नहीं पता चल पाया है कि कंगना रनौत को सुरक्षा के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय को रकम का भुगतान करना होगा या नहीं। वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा के तहत 10-11 कमांडो 24 घंटे अलग-अलग शिफ्ट में कंगना की रक्षा करेंगे। इन कमांडो में से कहीं भी आने-जाने पर कंगना के साथ दो-तीन सशस्त्र पीएसओ यानि निजी सुरक्षा अधिकारी होंगे, जबकि अन्य कर्मी उनके आवास पर सुरक्षा में तैनात रहेंगे।

कंगना के सुरक्षा कर्मियों को एस्कॉर्ट वाहन मिलेंगे !
कंगना रनौत को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने का मतलब है कि खुफिया एजेंसियों को खतरे के बारे में खास सूचना मिली है, उनके सुरक्षा कर्मियों के लिए एक ‘एस्कॉर्ट वाहन’ भी मिलने की संभावना है। अधिकारियों ने बताया कि जेड श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त लोगों को भी ‘एस्कॉर्ट वाहन’ मिलते हैं और जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त लोगों को भी एक ‘पायलट वाहन’ के साथ ही ‘एस्कॉर्ट वाहन’ की सुविधा दी जाती है। ध्यान रहे कि बॉलीवुड के अन्य कलाकारों को या तो महाराष्ट्र पुलिस से सुरक्षा मिलती है या वे निजी सुरक्षा एजेंसियों की सेवा लेते हैं।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In मनोरंजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

केंद्र सरकार ने उत्तराखंड हाई कोर्ट को नैनीताल से हल्द्वानी शिफ्ट करने को मंजूरी दी

केंद्र सरकार ने उत्तराखंड हाई कोर्ट को नैनीताल से हल्द्वानी शिफ्ट करने पर सैद्धांतिक सहमति…