देशव्यापी लॉकडाउन में ढील देना, कहीं भारत के लिए महंगा न पड़ जाए…जानिए कैसे ?

वैश्विक महामारी कोविड-19 के खिलाफ पूरी दुनिया के साथ भारत एकजुट होकर लड़ाई लड़ रहा है, जिसके कारण केंद्र सरकार द्वारा लागू 25 मार्च से 17 मई तक देशव्यापी लॉकडाउन चल रहा है, इस बीच आज से शुरू देशव्यापी लॉकडाउन-3 के दौरान इसमें कुछ छूट दी गई है, जो आने वाले समय में देश के लिए महंगा न पड़ जाए, क्योंकि अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है ?

महंगा भी पड़ सकता है लॉकडाउन में ढील देना !  

वैश्विक महामारी कोविड-19 के खिलाफ पूरी दुनिया के साथ भारत एकजुट होकर लड़ाई लड़ रहा है , जिसके कारण केंद्र सरकार द्वारा लागू 25 मार्च से 17 मई तक देशव्यापी लॉकडाउन चल रहा है, इस बीच आज से शुरू देशव्यापी लॉकडाउन-3 के दौरान इसमें कुछ छूट दी गई है, जो आने वाले समय में देश के लिए महंगा न पड़ जाए, क्योंकि अभी कोरोना खत्म नहीं हुआ है, बल्कि कोरोना संक्रमण का रफ्तार भारत में मई में काफी तेज हो गया है।

फरवरी, मार्च तथा अप्रैल में हुए करीब 34 हजार कोरोना संक्रमित

ध्यान रहे कि फरवरी, मार्च तथा अप्रैल महीने से भारत कोरोना महामारी से लड़ रहा है, इन तीनों महीनों में करीब 34 हजार कोरोना संक्रमित हुए, जबकि इस महीने मई के शुरुआती तीन दिनों में कोरोना संक्रमण में काफी उछाल आया है। देश में मई के शुरुआती तीन दिनों में कोरोना संक्रमण का ऐसा उछाल आया कि कोरोना पॉजिटिव केस 42 हजार को पार कर गया, इन तीन दिनों में 7680 कोरोना पॉजिटिव केस बढ़े हैं, इन तीन दिनों में दिल्ली तथा पंजाब में ज्यादा तेजी से बढ़ा है कोरोना पॉजिटिव केस।

1, 2 तथा 3 मई को देश में बढ़े 7680 कोरोना पॉजिटिव केस

देश में 1 मई को कुल 2396 कोरोना पॉजिटिव केस बढे थे, जबकि 2 मई को 2567 कोरोना पॉजिटिव केस, तथा 3 मई को 2717 कोरोना पॉजिटिव केस बढ़े। 3 मई को 2717 कोरोना पॉजिटिव केस देश में अब तक का एक दिन में सबसे ज्यादा कोरोना से संक्रमित होने का सबसे बड़ा आंकड़ा है, जो बड़ी चिंता की बात कही जा सकती है।

दिल्ली में 3 दिन में 1034 कोरोना मरीज बढ़े, जबकि पंजाब में दो दिन में दोगुने हुए

देश की राजधानी दिल्ली में मई के शुरुआती तीन दिन में 1034 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ी, जबकि दिल्ली में अब तक 4549 कोरोना मरीज हो गए हैं। पंजाब में 2 दिन में करीब कोरोना पॉजिटिव केस दोगुने हो गए, पंजाब में 1 मई को कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या 585 थी, जो 3 मई को बढ़ कर 1102 हो गई, इन केसों में बढ़ोतरी की मुख्य वजह महाराष्ट्र के नांदेड़ से लौटे श्रद्धालु रहे।

देश के 733 जिलों में 130 जिले रेड, 284 जिले ऑरेंज तथा 319 जिले ग्रीन जोन में

देशव्यापी लॉकडाउन-3 के शुरू होने के दिन यानि 4 मई से केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी की नई गाइडलाइंस में देश के कुल 733 जिलों में 284 जिले ऑरेंज जोन तथा 319 जिले ग्रीन जोन में अर्थव्यवस्था को देखते हुए लॉकडाउन में ढील दी गई है, जबकि देश के 130 जिले जो रेड जोन में हैं, उन्हीं जिलों में सिर्फ पूरी तरह लॉकडाउन लागू है। लेकिन मई के शुरुआती दिन दिनों के कोरोना पॉजिटिव केस के आंकड़ों को देखते हुए लग रहा कि लॉकडाउन में ढील देने के कारण लोगों के कार्यरत होने के चलते मिलना-जुलना बढ़ेगा, जिससे संभावना ज्यादा रहेगा कोरोना से संक्रमित होने का, इसलिए लॉकडाउन में ढील देना महंगा भी साबित हो सकता है।

भारत में कोरोना पॉजिटिव केस 42,600 के पार, मरने वालों की संख्या 1396 पहुंची

गौरतलब है कि अब तक भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की संख्या करीब 42,600 से ज्यादा हो चुकी है, कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 11793 हो गई है, जबकि कोरोना से मरने वालों की संख्या 1396 हो चुकी है। अब तक पूरे विश्व में कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 35 लाख, 82 हजार को पार कर चुकी है तथा इससे मरने वालों की संख्या 2 लाख, 48 हजार को पार कर चुकी है। विश्व में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या अमेरिका में करीब 11 लाख, 88 हजार पहुंच चुकी है, जबकि इससे मरने वालों की संख्या यहां करीब 68,600 हो चुकी है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …