कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में नया ट्विस्ट, दिग्विजय सिंह ने भी दिए मुकाबले में उतरने के संकेत

कांग्रेस के अध्यक्ष का चुनाव अब रोचक होता जा रहा है। अब तक अशोक गहलोत और शशि थरूर के ही कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव में उतरने की चर्चाएं थीं, लेकिन अब दिग्विजय सिंह ने अपने नाम का जिक्र कर ट्विस्ट ला दिया है।

मेरे नाम को खारिज क्यों कर रहे- दिग्गी
कांग्रेस के अध्यक्ष के चुनाव में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस सांसद शशि थरूर के ही उतरने की चर्चाएं थीं, लेकिन अब मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने अपने नाम का जिक्र कर ट्विस्ट ला दिया है। एक निजी न्यूज टीवी चैनल से बातचीत में दिग्विजय सिंह ने कहा कि आप आखिर मेरे नाम को खारिज क्यों कर रहे हैं, उनके इस बयान से कयास लग रहे हैं कि क्या वह भी कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव में उतर सकते हैं। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह ने अशोक गहलोत को लेकर भी अहम टिप्पणी की है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि यदि अशोक गहलोत कांग्रेस के अध्यक्ष बनते हैं तो फिर राजस्थान के सीएम का पद छोड़ना होगा, उन्होंने यह भी कहा कि ऐसा होने पर निश्चित तौर पर सचिन पायलट उनकी जगह ले सकते हैं।

गहलोत को इस्तीफा देना होगा- दिग्गी
दिग्विजय सिंह ने कहा कि इसी साल उदयपुर में कांग्रेस की बैठक में यह फैसला लिया गया था कि एक शख्स के पास एक ही पद रहेगा। उन्होंने कहा कि अशोक गहलोत को इस्तीफा देना होगा। इस दौरान उन्होंने मध्य प्रदेश का उदाहरण देते हुए कहा कि कमलनाथ को एक पद छोड़ना पड़ा था, वहीं पार्टी अध्यक्ष पद के लिए अपनी उम्मीदवारी के सवाल पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि देखिए क्या होता है। उन्होंने कहा कि 30 तारीख की शाम तक सब सामने आ जाएगा, इसी दिन कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवारों के नामांकन का आखिरी दिन है।

गांधी परिवार रेस में नहीं- दिग्गी
दिग्विजय सिंह ने कहा कि गांधी परिवार का कोई भी सदस्य अध्यक्ष पद की रेस में नहीं है, चिंता की कोई बात नहीं है, जो भी चुनाव में उतरना चाहता है, उसके पास यह हक है, यदि कोई नहीं लड़ना चाहता है तो फिर उससे जबरदस्ती नहीं की जा सकती, बस इतनी ही बात है। ध्यान रहे कि राहुल गांधी ने 2019 के आम चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था, तब से सोनिया गांधी ही यह पद संभाल रही हैं और राहुल गांधी ने लगातार अध्यक्ष बनने से इनकार किया है। यहां तक कि अशोक गहलोत ने आज भी यह कहा कि यदि राहुल गांधी राजी हों तो बेहतर होगा अन्यथा वह नामांकन दाखिल करेंगे।

राहुल गांधी अपना निर्णय नहीं बदलते- दिग्गी
दिग्विजय सिंह ने कहा कि राहुल गांधी एक बार किसी चीज के लिए मन बना लेते हैं तो फिर वह बदलते नहीं हैं, ऐसा तो पहले भी हुआ है, जब गांधी परिवार के बाहर के लोगों ने कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभाला था। उन्होंने कहा कि क्या हमने तब काम नहीं किया था, जब यह जिम्मेदारी नरसिम्हा राव के पास थी। दिग्विजय सिंह ने कहा कि राहुल गांधी वह काम करेंगे, जो कांग्रेस अध्यक्ष की ओर से उन्हें दिया जाएगा। राहुल गांधी के कांग्रेस का फेस होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह उन 119 यात्रियों में से एक हैं, जो कन्याकुमारी से कश्मीर तक की यात्रा कर रहे हैं।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

PM मोदी का बड़ा बयान, कहा- ‘मैं किसी को डराने या चकमा देने के लिए फैसले नहीं लेता, मैं देश के पूरे विकास के लिए फैसले लेता हूं’

इंडियन इकोनॉमी पर बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘जहां तक 2047 विजन …