पीके और पवन वर्मा पर गिरी गाज, नीतीश ने किया प्रहार

नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड ने पार्टी के दो बड़े नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया है । जेडीयू ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर और महासचिव पवन वर्मा को पार्टी से निकाल दिया है। पार्टी ने दोनों की प्राथमिक सदस्यता रद्द कर दी है

पीके और पवन वर्मा पर कार्रवाई
दरअसल, जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर और महासचिव पवन वर्मा लगातार पार्टी लाइन से बाहर जाकर बयान दे रहे थे। सीएए और एनआरसी को लेकर लगातार सवालिया निशान खड़ा किया जा रहा था. हालात ये हो गए थे कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उनपर बयान देना पड़ा था और कहा था कि जो पार्टी अच्छी लगती है वहां जाएं. जिसके बाद अब प्रेस रिलीज जारी कर पार्टी से बर्खास्त कर दिया गया है . जिसमें दोनों पर पार्टी के संविधान के खिलाफ बोलने का आरोप लगाया गया है

प्रशांत किशोर ने कहा- थैक्यू
पार्टी से निकाले जाने के बाद प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को थैंक्स कहा है। प्रशांत ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मेरी शुभकामनाएं नीतीश कुमार के साथ है . वो बिहार के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बने रहें. भगवान आपको सफलता दे.

नीतीश ने की थी कार्रवाई की बात
जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा था कि जिसे पार्टी में रहना है उसे पार्टी के अनुशासन को मानना होगा, जो नहीं मानेगा उसे जहां जाना हो जाएं। हमने सबका सम्मान किया है। इसके बाद से ही जदयू के दोनों नेताओं पर बड़ी कार्रवाई के संकेत मिल रहे थे। नीतीश कुमार के बयान के बाद जदयू नेता अजय आलोक ने भी प्रशांत किशोर और पवन वर्मा पर बड़ा हमला बोला था।

शाह के कहने पर पीके को लिया
नीतीश कुमार ने अपने बयान में कहा था कि अमित शाह ने मुझे कहा था प्रशांत किशोर को जेडीयू में शामिल करने के लिए, तब मैंने उन्हें पार्टी में शामिल किया था। अब उनसे ही पूछ लीजिए कि उन्हें रहना है या नहीं? यदि रहना है तो पार्टी लाइन में रहना होगा, नहीं तो जहां जाना है जाएं। हम किसी को पकड़ कर नहीं रखते हैं।

प्रशांत किशोर ने किया था पलटवार
नीतीश कुमार के शाह वाले बयान पर प्रशांत किशोर ने पलटवार किया था. प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर कहा था कि आपने कैसे और क्यों मुझे जदयू में शामिल किया, इस बारे में झूठ बोलने के लिए क्या हुआ! आपने मुझे अपने रंग में रंगने की भरसक कोशिश की और यदि मैं सच कहूं तो कौन विश्वास करेगा कि जिसकी सिफारिश अमित शाह ने की हो, उसकी बात नहीं सुनने का आप साहस रखते हैं?

शाह-नीतीश साथ साथ करेंगे प्रचार
इसके बाद खबर ये आई थी कि नीतीश कुमार औऱ अमित शाह दिल्ली चुनाव के लिए साझा चुनाव प्रचार करेंगे।दिल्ली में प्रशांत किशोर की कंपनी I-PAC दिल्ली चुनाव में आम आदमी पार्टी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं तो वहीं अब एनडीए के लिए नीतीश कुमार और अमित शाह साथ प्रचार करेंगे। दो फरवरी को दिन के 12 बजे दिल्ली के बुराड़ी में अमित शाह और नीतीश कुमार की साझा रैली होगी।

Load More Related Articles
Load More By Newsroom Live
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

गृह मंत्री अमित शाह को हुआ कोरोना, अस्पताल में भर्ती

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह रविवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती…