लॉक डाउन के बीच देश के दो विश्वविद्यालय कराने जा रही है ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम…जानिए

वैश्विक महामारी कोविड-19 के संकट के कारण देशव्यापी लॉक डाउन के बीच भारत के दो विश्वविद्यालय ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम कराने जा रही है। ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम का यह नया प्रस्ताव यूजीसी के चेयरमैन को भेज दिया गया है।

बिहार के दो विश्वविद्यालयों में होंगे ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम

वैश्विक महामारी कोविड-19 के संकट के कारण देशव्यापी लॉक डाउन के बीच भारत के दो विश्वविद्यालय ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम कराने जा रही है, ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम का यह नया प्रस्ताव यूजीसी यानि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के चेयरमैन को भेज दिया गया है। दरअसल बिहार के दो विश्वविद्यालयों ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा तथा पूर्णिया विश्वविद्यालय, पूर्णिया ने चालू सत्र के बैचलर तथा मास्टर डिग्री समेत सभी पाठ्यक्रमों को लिए ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम कराने का फैसला लिया है।

ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम से छात्रों के सेशन लेट नहीं होंगे

ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा तथा पूर्णिया विश्वविद्यालय, पूर्णिया के संयुक्त वाइस चांसलर डॉ. राजेश कुमार ने बताया कि ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम का यह सिस्टम पूरी तरह सफल होगा। उन्होंने कहा कि यह ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम से छात्रों के सेशन लेट नहीं होंगे और न ही लॉक डाउन का असर इन दोनों विश्वविद्यालयों के छात्रों पर पड़ेगा। डॉ. राजेश कुमार ने कहा कि इस नयी परीक्षा प्रणाली के लागू होने को लेकर लोग इस पर सवाल भी उठाएंगे, परंतु लॉक डाउन के कारण दोनों विश्वविद्यालयों के सभी पाठ्यक्रमों का सेशन लेट न हो, इसलिए ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम के जानी चाहिए।

ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम का प्रस्ताव यूजीसी को भेजा गया

वाइस चांसलर डॉ. राजेश कुमार ने इस नयी परीक्षा प्रणाली का प्रस्ताव यूजीसी के चेयरमैन को भेज दिया गया है और इसकी सूचना कुलाधिपति (राजभवन में) को दे दी गई है। उन्होंने कहा कि इस नयी प्रणाली के बारे में विश्वविद्यालय के प्राचार्यों तथा शिक्षकों से बैठक करके इस पर विचार लिए गए हैं, सभी के सर्वसम्मति से यह नयी प्रणाली लागू करने का निर्णय लिया गया है, अब सिर्फ यूजीसी की इजाजत मिलने के बाद दोनों विश्वविद्यालयों में यह नयी परीक्षा प्रणाली शुरू कर दी जाएगी।

ऑनलाइन ओपन बुक सिस्टम एग्जाम के प्रोफाइल-

  • ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा में करीब 5 लाख परीक्षार्थी होगें।
  • पूर्णिया विश्वविद्यालय, पूर्णिया में करीब 2 लाख परीक्षार्थी होंगे।
  • आईटी के तमाम प्रोविजन्स तथा क्वेश्चन्स के जवाब प्रणाली के लिए तय कर लिए गए हैं।
  • कुछ आईटी एजेंसी जो इस सिस्टम का अनुभव रखती है, उन्हें चिन्हित कर लिया गया है।
  • यह परीक्षा 1 घंटे की होगी।
  • परीक्षार्थी घर बैठे किताब खोलकर सवालों का जवाब ऑनलाइन देंगे।
  • परीक्षा के सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव स्टाइल के होंगे।
  • प्रश्न एक समान नहीं होंगे।
  • रेंडमाइजेशन के थ्री होगा परीक्षार्क्षी को क्वेश्चन्स पेपर सर्व
  • क्वेश्चन्स पेपर का सीक्वेंस भी अलग-अलग होगा।
  • छात्र व्हाइट एप के माध्यम से भी ले सकते हैं एक्जाम में भाग
  • गरीब, ग्रामीण तथा मोबाइललेस परीक्षार्थियों के लिए अनुदानित दर एवं किस्त पर भुगतान से मोबाइल देने का प्रस्ताव है परीक्षा से पूर्व।

देश में कोरोना महामारी से मरने वालों की संख्या 289 पहुंची

ध्यान रहे अब तक भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 8453 हो चुकी है, कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 972 हो गई है, जबकि कोरोना महामारी से मरने वालों की संख्या 289 हो चुकी है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …