मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, 16 जनवरी से शुरू होगा देशभर में कोरोना वैक्सीनेशन

वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर केंद्र की मोदी सरकार ने आज 9 जनवरी को एक बड़ा ऐलान किया है। भारत में कोरोना वैक्सीन लगने की शुरुआत 16 जनवरी, 2021 से होगी। सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना वैक्सीन दी जाएगी, इसके बाद उम्रदराज लोगों को दी जाएगी।

16 जनवरी से शुरू होगा वैक्सीनेशन
देश में कोरोना वैक्सीन लगने की शुरुआत 16 जनवरी, 2021 से होने जा रही है। सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन दी जाएगी, जिनकी संख्या करीब 3 करोड़ होगी। इसके बाद 50 साल से अधिक और 50 साल के कम उम्र के को-मोरबिड (पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित) लोगों को वैक्सीन दी जाएगी, जिनकी संख्या करीब 27 करोड़ के आस-पास है।

पीएम मोदी ने की समीक्षा बैठक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 9 जनवरी को कोविड-19 टीकाकरण के लिए राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों की तैयारियों की समीक्षा के लिए एक उच्च-स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में कैबिनेट सचिव और स्वास्थ्य सचिव के अलावा दूसरे अधिकारियों ने भी भाग लिया। इस समीक्षा बैठक के बाद वैक्सीनेशन की तारीख तय की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि सबसे पहले वैक्सीन हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगाई जाएगी, जिनकी अनुमानित संख्या करीब 3 करोड़ है, इसके बाद 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों और इससे कम उम्र के उन लोगों को टीके लगेंगे जो पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं, ऐसे लोगों की संख्या करीब 27 करोड़ है।

PM मोदी ने टीकाकरण के बारे में जानकारी ली
बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने देशभर में कोरोना टीकाकरण की तैयारियों के बारे में जानकारी ली, इस दौरान उन्होंने Co-WIN वैक्सीन डिलिवरी मैनेजमेंट सिस्टम के बारे में भी जानकारी ली। Co-WIN से कोरोना टीकाकरण की रियल टाइम निगरानी, वैक्सीन के स्टॉक्स से जुड़ीं सूचनाएं, उन्हें स्टोर करने के तापमान और जिन लोगों को वैक्सीन लगनी है, उन्हें ट्रैक करने जैसे काम होंगे। अब तक 79 लाख से ज्यादा लाभार्थियों ने Co-WIN पर रजिस्ट्रेशन कराया है। बैठक में प्रधानमंत्री मोदी को देशभर में आयोजित किए गए 3 चरणों में ड्राई रन से भी अवगत कराया गया। ध्यान रहे कि तीसरा ड्राई रन कल 8 जनवरी को देश के सभी जिलों में चलाया गया था।

11 जनवरी को होगी CM के साथ PM की बैठक
ध्यान रहे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 जनवरी को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वैक्सिन पर चर्चा करने वाले हैं, लेकिन उससे पहले ही वैक्सिनेशन की तारीख का ऐलान कर दिया गया है। गौरतलब है कि देश में भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड वैक्सीन को 3 जनवरी को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है। कोविशील्ड का उत्पादन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कर रही है।

वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के लिए जरूरी दस्तावेज
लोगों को कोरोना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, केंद्र/राज्य सरकार द्वारा जारी सर्विस आइडेंटिटी कार्ड (फोटो के साथ), पासपोर्ट, आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, फोटो के साथ पेंशन डॉक्यूमेंट, पोस्ट ऑफिस/बैंक द्वारा जारी पासबुक फोटो के साथ और श्रम मंत्रालय की योजना वाले हेल्थ इंश्योरेंस स्मार्ट कार्ड जरूरी होंगे। इनमें से आपके पास अगर एक भी दस्तावेज हैं तो कोरोना टीकाकरण के आप रजिस्ट्रेशन करा पाएंगे, इसके साथ ही एक टॉल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1075 भी जारी किया गया है।

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा- CBSE रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अगस्त में मिलेगा परीक्षा देने का मौका

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज सीबीएसई की 12वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम से …