सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को दिए पांच सुझाव…जानिए

वैश्विक महामारी कोविड-19 संकट के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख कर कोरोना महामारी के विरुद्ध लड़ाई के लिए जरूरी पैसे के मद्देनजर सरकारी खर्चों में कटौती से जुड़े अपना 5 सुझाव दिए हैं। साथ ही सोनिया गांधी ने भारत सरकार को संयमित खर्च करने की नसीहत भी दी।

भारत सरकार जुटा सकती है पौने तीन लाख करोड़ रुपए

वैश्विक महामारी कोविड-19 संकट के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख कर कोरोना महामारी के विरुद्ध लड़ाई के लिए जरूरी पैसे के मद्देनजर सरकारी खर्चों में कटौती से जुड़े अपना 5 सुझाव दिए हैं। साथ ही सोनिया गांधी ने भारत सरकार को संयमित खर्च करने की नसीहत देते हुए कहा कि इन पांचों सुझाव से सरकार 2 लाख 75 हजार करोड़ रुपए का फंड भी जुटा सकती है। सोनिया ने केंद्रीय कैबिनेट द्वारा भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व सभी सांसदों के वेतन में 1 साल तक 30 फीसदी की कटौती के निर्णय तथा सांसद निधि को 2 वर्ष के लिए टाल कर इसके पैसे का इस्तेमाल कोरोना महामारी से निपटने के निर्णय का समर्थन किया।

सरकारी विज्ञापनों पर दो वर्ष के लिए रोक लगाएं

सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को अपना पहला सुझाव यह दिया है कि सरकारी विज्ञापनों पर 2 वर्ष के लिए रोक लगाई जाए, इसमें सिर्फ कोरोना महामारी के बारे में एडवाइजरी तथा स्वास्थ्य से संबंधित विज्ञापन को ही इस बंदिश से बाहर रखें। सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को अपना दूसरा सुझाव दिया कि नया संसद भवन बनाने की योजना को अभी टाल कर उसकी जगह हॉस्पिटल बनाए जाएं, मौजूदा स्थिति में विलासिता पर किया जाने वाला यह खर्च व्यर्थ है, मौजूदा संसद भवन से ही अभी काम चल सकता है। सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को अपना तीसरा सुझाव दिया भारत सरकार के खर्चे के बजट में भी 30 फीसदी की कटौती की जाए, यह 30 फीसदी राशि करीब 2.5 लाख करोड़ को प्रवासी मजदूरों, श्रमिकों, किसानों तथा असंगठित क्षेत्र में काम करने वालों पर खर्च किए जाए।

विदेश यात्रा स्थगित की जाए

सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को अपना चौथा सुझाव दिया है कि अत्यधिक जरूरी मामलों को छोड़कर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्रियों, मुख्यमंत्रियों राज्य के मंत्रियों तथा अधिकारियों की विदेश यात्रा भी स्थगित की जाए। सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को अपना पांचवां और अंतिम सुझाव यह दिया कि पीएम केयर्स फंड की कुल राशि को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत फंड में स्थानांतरित किए जाएं, क्योंकि जनता के सेवा के फंड के वितरण के लिए दो अलग अलग मद बनाना मेहनत और संसाधनों की बर्बादी ही है। गौरतलब है अब तक भारत में कोरोना वायरस पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 4900 को पार चुकी है, जबकि कोरोना महामारी से मरने वालों की संख्या 137 हो चुकी है।

 

Load More Related Articles
Load More By RN Prasad
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

टैक्सपेयर्स के लिए बड़ी राहत, ‘विवाद से विश्वास’ स्कीम के तहत पेमेंट की डेडलाइन 30 सितंबर तक बढ़ाई गई

केंद्र सरकार ने विवाद से विश्वास स्कीम के तहत पेमेंट की डेडलाइन एक महीने बढ़ा दी है, जबकि …